केरल के इडुक्की में भूस्खलन से मरने वालों की संख्या 52 हुई, असम और बिहार में बाढ़ से हालात बिगड़े

बिहार में बाढ़ से हालात खराब हो गये हैं. राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के बुलेटिन के अनुसार नये इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है जिससे 16 जिलों में 62,000 और लोग प्रभावित हुए हैं.

केरल के इडुक्की में भूस्खलन से मरने वालों की संख्या 52 हुई, असम और बिहार में बाढ़ से हालात बिगड़े

बिहार और असम में बाढ़ का कहर जारी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

केरल के इडुक्की जिले के पेट्टीमुडी में भूस्खलन के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर मंगलवार को 52 हो गई है, वहीं असम और बिहार में बाढ़ से हालात बिगड़ने के बाद लाखों लोग प्रभावित हुए हैं. इडुक्की में अधिकारियों ने बताया कि दो पुरुषों और एक महिला का शव मलबे से बरामद हुआ है. अधिकारियों ने बताया कि राजामाला के निकट पेट्टीमुडी में एनडीआरएफ, अग्निशमन और पुलिस विभाग के कर्मी लापता 19 लोगों की तलाश के काम में जुटे हैं. ये लोग सात अगस्त से लापता है. इस बीच, इडुक्की जिले के मुल्लापेरियार बांध में जलस्तर मंगलवार को 136.85 फुट पर पहुंच गया.

बिहार में बाढ़ से हालात खराब हो गये हैं. राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के बुलेटिन के अनुसार नये इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है जिससे 16 जिलों में 62,000 और लोग प्रभावित हुए हैं और इस तरह अब तक 75 लाख से अधिक लोग बाढ़ का संकट झेल चुके हैं. राज्य में बाढ़ की घटनाओं में किसी के हताहत होने की कोई नयी खबर नहीं है और मृतक संख्या 24 बनी हुई है. असम में बाढ़ के हालात मंगलवार को थोड़े बिगड़ गये और राज्य के तीन जिलों में करीब 14,000 लोग अब भी बाढ़ से जूझ रहे हैं.

नीतीश कुमार ने बाढ़ की स्थिति को लेकर आपदा प्रबंधन विभाग को तैयार रहने का निर्देश दिया

एक सरकारी बुलेटिन में यह जानकारी दी गयी. इससे पहले राज्य के चार जिलों में 9,200 से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित थे. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की दैनिक बाढ़ रिपोर्ट के अनुसार धेमाजी, बकसा और मोरीगांव जिलों में बाढ़ के कारण 13,800 से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं. सर्वाधिक बुरी तरह प्रभावित धेमाजी में 12,000 से अधिक लोग पीड़ित हैं जिसके बाद बकसा में 1,000 और मोरीगांव में 800 से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं. असम में इस साल बाढ़ और भूस्खलन से अब तक 136 लोगों की जान जा चुकी है जिनमें 110 लोग बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में मारे गये और 26 लोगों की मौत भूस्खलन में हो गयी.

प्राधिकरण के अनुसार इस समय 89 गांव जलमग्न हैं और पूरे राज्य में 5,984 हेक्टेयर खेतों में खड़ी फसल तबाह हो गयी है. इस बीच उत्तर प्रदेश में बाढ़ की स्थिति में कुछ सुधार हुआ है मगर राज्य के 16 जिलों में 517 गांव अब भी सैलाब से प्रभावित हैं. राहत आयुक्त संजय गोयल ने मंगलवार को बताया कि प्रदेश में बाढ़ की स्थिति में कुछ सुधार आया है और सोमवार तक प्रदेश में जहां 19 जिले बाढ़ से प्रभावित थे वहीं अब इनकी संख्या घटकर 16 रह गई है. उन्होंने बताया कि इस वक्त प्रदेश के अंबेडकर नगर, अयोध्या, आजमगढ़, बहराइच, बलिया, बलरामपुर, बाराबंकी, बस्ती, देवरिया, गोंडा, गोरखपुर, लखीमपुर खीरी, कुशीनगर, मऊ, संत कबीर नगर और सीतापुर जिलों के 517 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं.

इनमें से 268 का संपर्क बाकी स्थानों से कट गया है. पश्चिमी उत्तर प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर भारी बारिश हुई, वहीं पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में भी मूसलाधार बारिश हुई. मौसम विभाग के अनुसार राज्य में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गयी और गरज के साथ छींटे पड़े. कई स्थानों पर बिजली भी गरजी. विभाग के अनुसार प्रदेश में बुधवार से शुक्रवार तक अनेक स्थानों पर बारिश या गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है. कर्नाटक में बाढ़ और भूस्खलन की घटनाओं में अब तक 16 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं चार लोग लापता हैं. राज्य में इस महीने की शुरूआत से प्रचंड बारिश हो रही है.

दिल्ली में हल्की-फुल्की बारिश हुई और अत्यधिक उमस से लोग परेशान दिखे. सफदरजंग वेधशाला ने शाम 5:30 बजे तक 8.6 मिलीमीटर बारिश दर्ज की. वहीं लोधी रोड और आयानगर मौसम केन्द्रों ने क्रमशः 3.2 मिमी और 1.3 मिमी वर्षा दर्ज की. मौसम विभाग ने कहा कि शहर में अधिकतम तापमान 36.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री अधिक है. विभाग ने कहा कि आद्रता का स्तर बढ़कर 92 प्रतिशत हो गया. इससे पहले, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार शाम से बुधवार तक शहर में 'मध्यम से भारी बारिश' का पूर्वानुमान जताया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि बुधवार को तेज बारिश होने की संभावना है. आईएमडी के अनुसार मुंबई समेत तटीय महाराष्ट्र के कुछ स्थानों पर 15 अगस्त तक भारी बारिश का अनुमान है. हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हुई. मौसम विभाग ने 17 अगस्त तक बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है. पंजाब और हरियाणा में अधिकतम तापमान सामान्य के करीब रहा.

VIDEO: देस की बात रवीश कुमार के साथ : बिहार से कब खत्म होगा बाढ़ का खतरा?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)