जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले की आशंका

खास बातें

  • ऐसी रिपोर्टें मिली हैं कि 62वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर लश्कर-ए-तैयबा की किसी बड़ी आतंकी हमले को अंजाम देने की योजना है।
जम्मू/श्रीनगर:

समूचे जम्मू एवं कश्मीर में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस से पहले किसी आतंकी हमले की आशंका और घाटी में तिरंगा फहराने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की प्रस्तावित रैली के मद्देनजर शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए सोमवार को हाई अलर्ट जारी किया गया। जम्मू में खुफिया एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि ऐसी रिपोर्टें मिली हैं कि 62वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा की किसी बड़ी आतंकी हमले को अंजाम देने की योजना है। सूत्रों ने बताया कि राज्य सरकार और केंद्रीय गृह मंत्रालय सुरक्षा मामलों पर हर घंटे सूचना का आदान-प्रदान कर रहे हैं। सूत्रों के अनुसार आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा कार बम या देसी बमों के जरिए खासतौर पर श्रीनगर में विस्फोट करने की फिराक में है। एक सूत्र ने बताया, "इसी वजह से राज्यभर में रेड अलर्ट जारी किया गया है।" सूत्रों ने बताया कि राज्य के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला गणतंत्र दिवस से पहले सुरक्षा मामलों पर केंद्रीय गृहमंत्री पी. चिदम्बरम के साथ निरंतर सम्पर्क में हैं। सूत्रों ने कहा कि श्रीनगर में गणतंत्र दिवस के मौके पर भाजपा की तिरंगा फहराने की योजना के किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए भी सुरक्षा बन्दोबस्त कड़े कर दिए गए हैं। श्रीनगर में एक पुलिस अधिकारी ने बताया, "तिरंगा फहराने के लिए भाजपा कार्यकर्ता राज्य में प्रवेश न कर पाए इसलिए जम्मू एवं कश्मीर और पंजाब सीमा को सील कर दिया गया है।" कानून एवं व्यवस्था को न बिगाड़ने की अब्दुल्ला के अनुरोध के बावजूद भाजपा की युवा शाखा भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) ने 'तिरंगा यात्रा' जारी रखने और 26 जनवरी को लाल चौक पर राष्ट्रीय झंडा फहराने का ऐलान किया है। उधर, भाजपा की रैली के खिलाफ अलगाववादी संगठन 'कश्मीर लिबरेशन फंट्र' (जेकेएलएफ) ने भी गणतंत्र दिवस के मौके पर लाल चौक तक मार्च निकालने का ऐलान किया है। खुफिया विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, "राज्यभर में बिना किसी समस्या के गणतंत्र दिवस मनाने के लिए किसी भी व्यक्ति को शांतिपूर्ण महौल को भंग करने की इजाजत नहीं दी जा सकती है।" श्रीनगर में गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य आयोजन स्थल बख्शी स्टेडियम के चारों तरफ बाड़ लगा दिया गया है और आसपास के इलाकों में तैनात पुलिस व अर्द्धसैनिक बलों की संख्या बढ़ दी गई है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com