NDTV Khabar

पुलवामा में हुई मुठभेड़ के शहीदों के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ा जनसैलाब

इस अभियान में अजय के साथी रहे हरियाणा के रेवाड़ी के रहने वाले सिपाही हरी सिंह को अंतिम सलामी देने के लिए पूरे शहर के लोग उमड़ आए हैं. राजस्थान के झुनझुनू में भी हवलदार शिवराम के पार्थिव शरीर भी पहुंचा दिया गया है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुलवामा में हुई मुठभेड़ के शहीदों के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ा जनसैलाब

हरियाणा के रेवाड़ी में शहीद शिव राम के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़

नई दिल्ली:

पुलवामा एनकाउंटर में शहीद जवानों को अंतिम विदाई दी गई. इस ऑपरेशन में सेना के एक मेजर सहित 5 जवान शहीद हो गए थे. इनमें जम्मू कश्मीर पुलिस का एक सिपाही भी है. रविवार देर रात से शुरू हुई मुठभेड़ में सेना के मेजर विभूति शंकर ढ़ोढ़ियाल, सिपाही शिव राम, अजय कुमार, हरि सिंह शहीद हो गए थे. मेरठ के रहने वाले जवान अजय कुमार की अंतिम यात्रा मंगलवार की सुबह सैन्य सम्मान के साथ छावनी से निकली गई. शहीद अजय का पार्थिव शरीर सोमवार को देर रात सैन्य अस्पताल लाया गया. मंगलवार की सुबह पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनकी अंतिम यात्रा शुरू हुई. इससे पहले, पश्चिम उप्र सब एरिया कमांडर मेजर जनरल पी एस साई, सैन्य अस्पताल के कमांडेंट ब्रिगेडियर एस सी गुप्ता और 18 गढ़वाल के कमान अधिकारी ने शहीद को श्रद्धांजलि दी. उसके बाद ‘भारत माता की जय' और ‘शहीद अजय कुमार अमर रहें' के नारे के बीच, शहीद अजय के पार्थिव शरीर को सेना के वाहन में रखकर सैन्य अस्पताल से अंतिम यात्रा के लिए निकाला गया. शहीद के अंतिम संस्कार की जिम्मेदारी सेना के 18 गढ़वा रेजीमेंट को दी गई. सड़क के दोनों ओर बड़ी संख्या में लोग, शहीद अजय के अंतिम दर्शनों के लिए खड़े थे. रास्ते पर वाहनों से आने जाने वाले लोगों ने भी वाहन रोक कर अजय की शहादत को नमन किया. 

 


 

पुलवामा हमले के बाद सेना की अपील : कश्मीर के समाज में मां की भूमिका अहम, बच्चों को समझाएं, पढ़ें 5 बड़ी बातें

इस अभियान में अजय के साथी रहे हरियाणा के रेवाड़ी के रहने वाले सिपाही हरी सिंह को अंतिम सलामी देने के लिए पूरे शहर के लोग उमड़ आए हैं. राजस्थान के झुनझुनू में भी हवलदार शिवराम के पार्थिव शरीर भी पहुंचा दिया गया है. 

पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान ने UN से की अपील- तत्काल हस्तक्षेप कर भारत से तनाव कम करने में करें मदद

टिप्पणियां

आपको बता दें कि सोमवार को पुलवामा में हुए एन्काउंटर में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला करने वाले मास्टरमाइंड कमरान गाजी मार दिया गया है. 18 घंटे तक चली इस मुठभेड़ में एक मेजर सहित 4 सिपाही शहीद हो गए थे. वहीं एक ब्रिगेडियर, लेफ्टिनेंट कर्नल और एक कर्नल को गोली लगी थी.

पुलवामा हमले पर सेना बोली- 100 घंटे के भीतर घाटी में जैश का खात्मा​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement