NDTV Khabar

रेप की लगातार घटनाओं के बीच अखिलेश का दावा, यूपी में कानून-व्यवस्था कई राज्यों से बेहतर

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रेप की लगातार घटनाओं के बीच अखिलेश का दावा, यूपी में कानून-व्यवस्था कई राज्यों से बेहतर

यूपी के सीएम अखिलेश यादव (फाइल चित्र)

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथ बर्बर अपराधों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है, लेकिन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव दावा कर रहे हैं कि उनके राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति देश के कई अन्य हिस्सों की तुलना में बेहतर है।

उत्तर प्रदेश द्वारा आयोजित निवेशक सम्मेलन के अवसर पर संवाददाताओं से बातचीत में अखिलेश यादव ने कहा कि इस सम्मेलन में निवेशकों की बड़ी भागीदारी इस बात का प्रमाण है कि राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति बेहतर है।

उन्होंने कहा, जब भी मुझसे कोई इसके (कानून-व्यवस्था) के बारे में पूछता है, मैं कहता हूं कि यह एक बहुत महत्वपूर्ण विषय है तथा यह सुनिश्चित करना सरकार की जिम्मेदारी है कि यह अच्छी स्थिति में बरकरार रहे। यह यूपी में अच्छा है और कई अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर है...यही वजह है वे (निवेशक) इतनी बड़ी संख्या में आए हैं।

अखिलेश ने कहा कि निवेशक सम्मेलन लोगों को यह बताने का भी मौका है कि यूपी के बारे में जो भी दुष्प्रचार हो, राज्य निवेश को आकर्षित कर रहा है। उन्होंने कहा कि कानून-व्यवस्था के मुद्दों पर ध्यान देना उनकी सरकार की जिम्मेदारी है।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को मुरादाबाद जिले के थजुरद्वारा थाना क्षेत्र में 11वीं कक्षा की एक छात्रा का शव पेड़ से लटका मिला। 16-वर्षीय यह लड़की लापता बताई जा रही थी। आशंका जताई जा रही है कि बलात्कार के बाद लड़की की हत्या कर शव को पेड़ से लटका दिया गया।

उधर, हमीरपुर जिले में 35-वर्षीय एक महिला से थाने में पुलिस अधिकारी द्वारा कथित तौर पर बलात्कार करने का मामला सामने आया। यह घटना सोमवार रात की है, जब महिला अपने पति को छुड़ाने के लिए सुमेरपुर पुलिस थाने गई थी। महिला के पति को पुलिस ने देसी कट्टे के साथ पकड़ा था। पुलिसवालों ने महिला से कथित तौर पर रिश्वत की मांग की, जिसे देने से उसने इनकार कर दिया। इसके बाद एसएचओ राहुल पांडेय ने उसके साथ कथित तौर पर बलात्कार किया।

हैरानी की बात यह रही कि ड्यूटी पर तैनात तीन कॉन्स्टेबलों ने एसएचओ को ऐसी हरकत करने से रोका नहीं। एसएचओ को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि तीनों कॉन्स्टेबलों को ड्यूटी से हटा दिया गया है

यूपी में समाजवादी पार्टी सरकार पर कई बार यह आरोप लगाए जा चुके हैं कि वह राज्य में कानून-व्यवस्था के मुद्दे का हल निकालने में विफल रही है। राज्य में हाल में बदायूं जिले में हुई एक घटना की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर व्यापक भर्त्सना की गई। इसमें करीब दो हफ्ते पहले दो चचेरी बहनों से कथित दुष्कर्म के बाद उनकी हत्या की गई और बाद में उनके शवों को पेड़ से लटका दिया गया था।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement