दिल्ली : लक्ष्मी विलास बैंक के 2 पूर्व अफसर अरेस्ट, 729 करोड़ की हेराफेरी का आरोप

लक्ष्मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank) के दो पूर्व अफसरों को दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की आर्थिक अपराध शाखा ने 729 करोड़ की रकम की गड़बड़झाले के मामले में गिरफ्तार किया है.

दिल्ली : लक्ष्मी विलास बैंक के 2 पूर्व अफसर अरेस्ट, 729 करोड़ की हेराफेरी का आरोप

आर्थिक अपराध शाखा ने दोनों को गिरफ्तार किया है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • लक्ष्मी विलास बैंक के 2 पूर्व अफसर गिरफ्तार
  • पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने किया अरेस्ट
  • दोनों पर 729 करोड़ रुपये की हेराफेरी का आरोप
नई दिल्ली:

लक्ष्मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank) के दो पूर्व अफसरों को दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की आर्थिक अपराध शाखा ने 729 करोड़ की रकम की गड़बड़झाले के मामले में गिरफ्तार किया है. पकड़े गए आरोपी आरएमजी कॉर्पोरेट ग्रुप के पूर्व जोनल हेड प्रदीप कुमार और पूर्व असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट अंजनी कुमार वर्मा हैं. रेलीगेयर फिनवेस्ट लिमिटेड की फिक्स्ड डिपॉजिट के गबन के आरोप में रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर मलविंदर सिंह और शिवेंद्र मोहन सिंह पहले ही गिरफ्तार हो चुके हैं.

आरोप है कि इन बैंक अफसरों ने गलत तरीके से बैंक की फिक्स्ड डिपॉजिट की रकम को मलविंदर और शिवेंद्र की कंपनियों को लोन के तौर पर दिया. रेलीगेयर की तरफ से इस मामले में शिकायत दर्ज कराई गई थी. रेलीगेयर फिनवेस्ट लिमिटेड की तरफ से 2016 में लक्ष्मी विलास बैंक में 400 करोड़ रुपये के फिक्स्ड डिपॉजिट करवाए गए थे.

दिल्ली पुलिस के जवानों ने गर्भवती रेप पीड़िता को खून देकर बचाई जान, आरोपी को झारंखड से दबोचा

जिसके बाद 2017 में आरएफएल ने 350 करोड़ की एफडी करवाई. दोनों एफडी शॉर्ट टर्म के लिए करवाई गई थीं लेकिन बाद में आरएफएल को पता चला कि बैंक की एफडी की रकम करंट अकाउंट में ट्रांसफर करने के बाद निकाल ली गई थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: दिल्ली पुलिस ने पत्रकार को किया गिरफ्तार, चीन के लिए जासूसी का आरोप