अमित शाह के कोलकाता दौरे के विरोध में लेफ्ट पार्टियों और छात्र संगठनों ने एयरपोर्ट के बाहर किया प्रदर्शन

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) आज (रविवार) कोलकाता के दौरे पर हैं. यहां वह नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के मुद्दे पर दो रैलियां करेंगे. हालांकि उनके इस दौरे के मद्देनजर कुछ छात्र संगठनों और लेफ्ट पार्टियों ने विरोध करना का फैसला किया है.

अमित शाह के कोलकाता दौरे के विरोध में लेफ्ट पार्टियों और छात्र संगठनों ने एयरपोर्ट के बाहर किया प्रदर्शन

अमित शाह के कोलकाता दौरे का विरोध कर रही हैं लेफ्ट पार्टियां और छात्र संगठन

खास बातें

  • आज कोलकाता के दौरे पर हैं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह
  • अमित शाह के दौरे का विरोध कर रही हैं लेफ्ट पार्टियां और छात्र संगठन
  • कोलकाता में अप्रैल में नगर निगम चुनाव होने वाले हैं
कोलकाता:

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कोलकाता में अप्रैल में नगर निगम चुनाव होने वाले हैं. सभी दलों ने चुनाव में अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए तैयारी शुरू कर दी है. केंद्रीय गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) आज (रविवार) कोलकाता के दौरे पर हैं. यहां वह नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के मुद्दे पर दो रैलियां करेंगे. हालांकि उनके इस दौरे के मद्देनजर कुछ छात्र संगठनों और लेफ्ट पार्टियों ने विरोध करना का फैसला किया है. बता दें, अमित शाह अपने कोलकाता दौरे के दौरान CAA को लेकर जनता के भ्रम दूर करेंगे. इतना ही नहीं, आज वह निगम चुनाव के लिए बीजेपी के चुनाव प्रचार अभियान का आगाज भी करेंगे. इसी दौरे को लेकर स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया और लेफ्ट पार्टियों के सदस्य ने कहा कि वे अमित शाह की यात्रा के खिलाफ हवाई अड्डे के पास प्रदर्शन किया.

बता दें, पश्चिम बंगाल में इस साल कोलकाता निगम चुनाव के बाद अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. अगले साल के लिए बीजेपी काफी वक्त से तैयारी कर रही है. आज शाहिद मीनार मैदान में अमित शाह रैली को संबोधित करेंगे. साथ ही वह सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) पर हमला बोलते हुए बीजेपी के चुनावी प्रचार अभियान से जुड़ा एक सॉन्ग भी रिलीज करेंगे. इस गाने का टाइटल 'आर नोए ओनयाय' यानी 'अब और अन्याय नहीं' है.

अमित शाह आज कोलकाता में निगम चुनाव प्रचार का करेंगे आगाज, लॉन्च करेंगे 'कैंपेन सॉन्ग'

आज सभी की निगाहें अमित शाह के भाषण पर भी टिकी हैं. कयास लगाए जा रहे हैं कि वह दिल्ली हिंसा पर भी बोल सकते हैं. CAA के विरोध को लेकर 24 और 25 फरवरी को दिल्ली में दंगे हो गए थे. अभी तक किसी जनसभा में न ही पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और न ही गृह मंत्री ने इस मुद्दे पर अपनी बात रखी है. पीएम मोदी पिछले दो दिनों में भुवनेश्वर, बुंडेलखंड और प्रयागराज का दौरा कर चुके हैं लेकिन वह अपनी सभाओं में दिल्ली हिंसा पर कुछ नहीं बोले.
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com