महबूबा मुफ्ती की बेटी ने बताया, 'चपाती के भीतर छिपाकर भेजती थी मां को चिट्ठी'

महबूबा मुफ्ती के एकाउंट पर पोस्ट करते हुए इल्तिज़ा ने पुष्टि की है कि उनकी मां के खिलाफ पब्लिक सेफ्टी एक्ट (PSA) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

महबूबा मुफ्ती की बेटी ने बताया, 'चपाती के भीतर छिपाकर भेजती थी मां को चिट्ठी'

पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती.

नई दिल्ली:

जम्मू एवं कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिज़ा मुफ्ती ने अपनी मां द्वारा हिरासत में बिताए गए छह महीनों के बारे में एक लम्बे नोट में लिखा है, "कश्मीर के लोगों के मौलिक अधिकार छीन लिए गए हैं, और वे असहनीय आर्थिक और मानसिक पीड़ा झेल रहे हैं..."

महबूबा मुफ्ती के एकाउंट पर पोस्ट करते हुए इल्तिज़ा ने पुष्टि की है कि उनकी मां के खिलाफ पब्लिक सेफ्टी एक्ट (PSA) के तहत मामला दर्ज किया गया है. इसके अलावा उन्होंने लिखा, "व्यक्तिगत स्तर पर मेरे पास पिछले छह महीनों के बारे में बताने के लिए शब्द नहीं हैं, जब अनुच्छेद 370 को हटाया गया है, और मेरी मां को हिरासत में डाल दिया गया..."

गुरुवार को महबूबा मुफ्ती और पूर्व राज्य (जम्मू एवं कश्मीर अब केंद्रशासित प्रदेश है) के अन्य पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के खिलाफ पब्लिक सेफ्टी एक्ट (PSA) के तहत मामला दर्ज किया गया - जो एक सख्त कानून है, और इसके तहत किसी को भी तीन महीने तक बिना किसी सुनवाई के हिरासत में रखे जाने की अनुमति है, तथा इसकी अवधि को कितनी भी बार बढ़ाया जा सकता है. यह आदेश उनकी छह महीने की हिरासत अवधि (बिना आरोप) खत्म होने के अंतिम दिन आया है.

जम्मू-कश्मीर : उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ़्ती की जल्द रिहाई की उम्मीद खत्म?

पिछले साल अगस्त से ही अपनी मां के ट्विटर एकाउंट को ऑपरेट कर रहीं इल्तिज़ा मुफ्ती ने यह भी बताया कि वह पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) की मुखिया, यानी उनकी मां से किस तरह संपर्क किया करती थीं.

इल्तिज़ा मुफ्ती ने लिखा, "मैं वह हफ्ता कभी नहीं भूल सकती, जब उन्हें गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया गया... मैंने अगले कुछ दिन बेहद चिंता में बिताए, जब तक मुझे एक मुड़े-तुड़े काग़ज़ पर लिखी कुछ हर्फ की चिट्ठी मिली... इस तरह की कई चिट्ठियां बाद में मिलती रहीं... मुझे वह चिट्ठी टिफिन बॉक्स के भीतर मिली, जिसमें उनके लिए घर से भोजन भेजा जाता था..."

NC ने PM मोदी के बयान को झुठलाया, कहा- उमर अब्दुल्ला ने कभी नहीं कहा कि अनुच्छेद 370 हटने से भारत से अलग हो जाएगा कश्मीर

महबूबा मुफ्ती की पुत्री के अनुसार, पूर्व मुख्यमंत्री ने उस चिट्ठी में लिखा था, "वे यह समझ गए हैं कि अब मैं कुछ भी बोलने के लिए सोशल मीडिया का इश्तेमाल नहीं करूंगी... अगर कोई अन्य शख्स ऐसा करता है, तो उस पर बहुरूप धरने के आरोप में मामला दर्ज किया जा सकता है... तुमसे बहुत प्यार है, तुम्हारी याद आती है..."

इल्तिज़ा मुफ्ती के अनुसार, "इसके बाद, जवाब कैसे भेजा जाए, पर असमंजस शुरू हो गया... मेरी दादी ने एक अनूठा रास्ता सुझाया... मैंने जो खत लिखा, उसे बहुत छोटे-से आकार में मोड़कर और अच्छी तरह चिपकाकर एक चपाती के भीतर छिपा दिया गया..."

PDP नेता ने अपनी ही पार्टी चीफ महबूबा मुफ्ती पर साधा निशाना तो कुमार विश्वास बोले- सब कुछ लुटा के होश में आए तो क्या हुआ

महबूबा मुफ्ती को शुरू में चश्माशाही गेस्ट हाउस में रखा गया था, लेकिन दिसंबर में बेटी द्वारा बेहद सर्दी की शिकायत किए जाने के बाद उन्हें श्रीनगर में एम.ए. रोड पर स्थित एक सरकारी बंगले में शिफ्ट कर दिया गया था.

अब महबूबा मुफ्ती को सरकारी आवास में ही रखा जाएगा, और उमर अब्दुल्ला सरकारी गेस्ट हाउस 'हरिनिवास' में ही हिरासत में रखे जाएंगे.

महबूबा मुफ्ती की बेटी ने अपनी सुरक्षा को लेकर सरकार पर साधा निशाना, कहा - आप तो बस...

उमर अब्दुल्ला के पिता तथा पूर्व मुख्यमंत्री डॉ फारुक अब्दुल्ला पर पिछले साल सितंबर में ही PSA लगा दिया गया था, और वह भी अगस्त से ही नज़रबंद हैं. 83-वर्षीय राजनेता पर 'सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ने' का आरोप लगाया गया था, जिसके तहत उन्हें तीन महीने तक ही हिरासत में रखा जा सकता है.

महबूबा मुफ्ती की बेटी का आरोप- मुझे नजरबंद कर दिया गया, नाना की कब्र पर जाने से रोका

पिछले साल अगस्त में डॉ फारुक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला तथा महबूबा मुफ्ती के अलावा भी सैकड़ों राजनेताओं को हिरासत में लिया गया था या गिरफ्तार किया गया था, जब केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 को हटाने और जम्मू एवं कश्मीर राज्य को जम्मू एवं कश्मीर तथा लद्दाख नामक दो केंद्रशासित प्रदेशों में तब्दील करने का विधेयक संसद में पारित करवा लिया था.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com