Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

उपराज्यपाल और दिल्ली सरकार में फिर ठनी, अरविंद केजरीवाल का री-ट्वीट- सर वो विधायक हैं, चोर नहीं

दिल्ली के विधायक मोहल्ला क्लीनिक की फाइल पास करवाने गए और एलजी साहब ने पुलिस बुला ली. सर वो विधायक हैं, चोर नहीं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उपराज्यपाल और दिल्ली सरकार में फिर ठनी, अरविंद केजरीवाल का री-ट्वीट- सर वो विधायक हैं, चोर नहीं

अरविंद केजरीवाल ने एलजी पर कसा तंज

खास बातें

  1. 45 विधायक बुधवार को एलजी निवास पहुंचे थे
  2. एलजी निवास पर 7 घंटे तक डटे रहे विधायक
  3. जनतंत्र संवाद से चलता है, पुलिस से नहीं : विधायक
नई दिल्ली:

दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार और एलजी एक बार फिर आमने-सामने हैं. मोहल्ला क्लीनिक की फाइल की मंजूरी को लेकर सौरभ भारद्वाज के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी के 45 विधायक बुधवार को एलजी निवास पहुंचे और फाइल की मंजूरी की मांग को लेकर करीब 7 घंटे तक वहां जमे रहे. पुलिस को बुलाना पड़ा और जिस वे लोग जहां बैठे थे वहां की बिजली काट दी गई. आज इस संबंध में शाम 5 बजे सीएम, स्वास्थ्य मंत्री और LG के बीच इस मुद्दे पर बैठक होगी.

पढ़ें: दिल्ली के मुख्यमंत्री के पूर्व सचिव के खिलाफ आरोपपत्र पर विचार 11 सितंबर को

इस मामले को लेकर अरविंद केजरीवाल ने दो ट्वीट री-ट्वीट किए हैं. दिल्ली के विधायक मोहल्ला क्लीनिक की फाइल पास करवाने गए और एलजी साहब ने पुलिस बुला ली. सर वो विधायक हैं, चोर नहीं. जनतंत्र संवाद से चलता है, पुलिस से नहीं.


पढ़ें: मानहानि मामला : अरविंद केजरीवाल की याचिका दिल्ली हाई कोर्ट में खारिज

इधर, एलजी दफ्तर की ओर से दावा किया गया है कि मोहल्ला क्लीनिक से जुड़ी कोई भी फाइल एलजी के पास लंबित नहीं है. वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि ये 2 करोड़ दिल्लीवासियों के स्वास्थ्य का मामला है. इस पर राजनीति न हो और उप-राज्यपाल मोहल्ला क्लीनिक से जुड़ी फ़ाइलों को जल्द से जल्द मंज़ूरी दें.

टिप्पणियां

उधर, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कार्यालय की ओर से कहा गया कि मंजूरी के लिए फाइल उपराज्यपाल कार्यालय के पास भेजी गई थी. केजरीवाल ने ट्वीट किया, 'मोहल्ला क्लीनिक पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. यह दो करोड़ दिल्ली वासियों के स्वास्थ्य से जुड़ा मामला है. उप राज्यपाल को इससे संबंधित फाइलों को जल्द से जल्द मंजूरी दे देनी चाहिए.' केजरीवाल ने अगले ट्वीट में लिखा, 'देरी के कारण नागरिकों को परेशानी सहनी पड़ रही है. उप राज्यपाल को सभी संबंधित अधिकारियों से बात करनी चाहिए और बाधा को दूर करना चाहिए. अगर उप राज्यपाल चाहें तो मैं अपने मंत्रियों के साथ राज निवास आने के लिए तैयार हूं.'

उपराज्यपाल कार्यालय ने एक बयान में कहा कि आप विधायक सौरभ भारद्वाज और चार अन्य विधायकों को मिलने के लिए समय दिया गया था, लेकिन भारद्वाज के नेतृत्व में करीब 45 विधायक राज निवास के समक्ष आ गए और बैजल से मिलने की मांग करने लगे. इसमें कहा गया है कि व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद उपराज्यपाल विधायकों से मिलने को सहमत हो गए.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... यूपी के भदोही से BJP विधायक सहित उनके परिवार के 7 सदस्यों के खिलाफ दर्ज हुआ गैंगरेप का मामला

Advertisement