NDTV Khabar

पीएम मोदी की जान को खतरा : M-4 राइफल और 4 लाख राउंड कारतूस, पढ़ें- क्या लिखा है उस कथित चिट्ठी में

पुलिस के मुताबिक दिल्ली से पकड़े गए एक नक्सल समर्थक के पास से ये खत बरामद हुआ है. पुणे पुलिस ने दिल्ली, मुंबई और नागपुर से 5 लोगों को इस मामले में गिरफ्तार कर चुकी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी की जान को खतरा : M-4 राइफल और 4 लाख राउंड कारतूस, पढ़ें- क्या लिखा है उस कथित चिट्ठी में

पीएम मोदी को सलाह दी गई है कि वह रोड शो न करें (फाइल फोटो )

खास बातें

  1. पुणे की पुलिस का दावा
  2. नक्सली रच रहे थे पीएम मोदी को मारने की साजिश
  3. कोर्ट में पेश की एक चिट्ठी
नई दिल्ली: प्रधानमंत्री मोदी की हत्या  की साज़िश रचे जाने खुलासा हुआ है. पुणे पुलिस के दावे को मानें तो नक्सली राजीव गांधी की हत्याकांड की तर्ज़ पर प्रधानमंत्री मोदी पर हमले की योजना बना रहे थे. इस बात का भीमा-कोरेगांव हिंसा की जांच में गिरफ्तार 5 लोगों के पास मिले दस्तावेज़ों से हुआ है. पुलिस के मुताबिक दिल्ली से पकड़े गए एक नक्सल समर्थक के पास से ये खत बरामद हुआ है. पुणे पुलिस ने दिल्ली, मुंबई और नागपुर से 5 लोगों को इस मामले में गिरफ्तार कर चुकी है. पुलिस ने अदालत को बताया है कि दिल्ली से गिरफ्तार आरोपी रोना जैकब विल्सन के कंप्यूटर से मिले एक पत्र में इस साज़िश का ज़िक्र हुआ है. चिट्ठी के मुताबिक इसे कॉमरेड आर कॉमरेड प्रकाश को लिखा है.

प्रधानमंत्री को निशाना बनाने की खबर परेशान करने वाली, षडयंत्रकर्ता होंगे बेनकाब : रविशंकर प्रसाद

टिप्पणियां
क्या लिखा है चिट्ठी में
  1. बिहार और पश्चिम बंगाल में हार के बाद भी मोदी ने 15 राज्यों में बीजेपी की सरकारें बनवा दी हैं.
  2. अगर ऐसा जारी रहा तो पार्टी के  हर मोर्चे पर मुश्किल पैदा हो जाएगी. 
  3. इससिए हम राजीव गांधी वाली घटना की तरह कुछ सोच रहे हैं. 
  4. यह आत्मघाती लगता है और खतरनाक भी.
  5. हो सकता है कि हम फेल हो जाएं 
  6. लेकिन पार्टी को हमारी इस योजना के बारे में सोचना चाहिये'
  7. इसके लिए  8 करोड़ रुपये इकट्ठा करने की बात भी कही गई है ताकि एम-4 राइफल और 4 लाख राउंड कारतूस चलाने की व्यवस्था की जा सके.

आपको बता दें कि भीमा कोरेगांव हिंसा की जांच के दौरान जब पुलिस ने रोना विल्सन, सोमा सेन, सुधीर धवले, सुरेंद्र गाडलिंग जैसे लोगों को गिरफ़्तार किया तब ये आरोप लगा कि वह असली गुनहगारों को छोड़ रही है लेकिन अचानक अब ये जांच प्रधानमंत्री की हत्या की साज़िश की ओर मुड़ चुकी है. अब पुलिस को इस चिट्ठी के अलावा और भी सबूत जुटाने होंगे जिनसे ये साबित हो कि इस इरादे को बाक़ायदा साज़िश की शक्ल दी गई. जबकि कई सामाजिक संगठनों ने कहा कि ये अंबेडकरवादी आंदोलन को कुचलने की कोशिश है. लेकिन एक हिंसक साज़िश की चिट्ठी के बाद ख़ामोशी है. देश के गृह मंत्री ने इस चिट्ठी को गंभीरता से लिया है. 

वीडियो : पुणे पुलिस का दावा

 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement