NDTV Khabar

कुलभूषण जाधव मामले में सुषमा स्‍वराज के बयान के दौरान लोकसभा में लगे पाकिस्‍तान मुर्दाबाद के नारे

बुधवार को शून्यकाल में शिवसेना के अरविंद सावंत, तृणमूल कांग्रेस के सौगत राय, कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खडगे, अन्नाद्रमुक के एम थम्बीदुरई समेत अनेक सदस्यों ने सदन में इस मुद्दे को उठाया था. इस पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि वह इस विषय पर गुरुवार को सदन में वक्तव्य देंगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कुलभूषण जाधव मामले में सुषमा स्‍वराज के बयान के दौरान लोकसभा में लगे पाकिस्‍तान मुर्दाबाद के नारे

कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ पाकिस्‍तान में हुए दुर्व्‍यवहार मामले में सुषमा स्‍वराज ने संसद में दिया बयान

नई दिल्ली:

भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ पाकिस्तान में दुर्व्यवहार के मुद्दे पर विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने कहा कि 25 दिसंबर को जाधव के परिवार ने पाकिस्‍तान में की थी मुलाकात. हम इस मुद्दे को लेकर आईसीजे तक गए और पाकिस्‍तान के फैसले को अभी अंतराष्‍ट्रीय अदालत ने रोक दिया है. राज्‍यसभा में बयान देने के बाद सुषमा स्‍वराज ने लोकसभा में भी बयान दिया. इस दौरान सांसदों ने पाकिस्‍तान मुर्दाबाद के नारे लगाए. दोनों सदनों में सुषमा स्‍वराज के बयान के बाद सदन की कार्यवाही को दो बजे तक के लिए स्‍थगित कर दिया गया है. 

यह भी पढ़ें : पाकिस्तान में हुए बुरे बर्ताव से अब और ज्यादा दुखी है कुलभूषण जाधव का परिवार : संबंधी

सुषमा स्‍वराज ने कहा कि सुरक्षा के नाम पर परिवार के कपड़े तक उतरावा दिए गए. जाधव की मां साड़ी पहनती है लेकिन उन्‍हें पहनने को सूट दिया गया. सुषमा स्‍वराज ने कहा कि पत्‍नी के ही नहीं मां के भी बिंदी, चूड़ी और मंगलसूत्र उतरावाया था. कुलभूषण की मां ने पाकिस्‍तान के अधिकारियों से कहा था कि ये मेरा सुहाग का प्रतीक है और मैंने कभी नहीं उतरा था. सुषमा स्‍वराज ने बताया कि मंगलसूत्र ना देखकर कुलभूषण ने सबसे पहले अपनी मां से पूछा था कि बाबा कैसे हैं. 


गुलाम नबी आजाद ने कहा जाधव की सुरक्षा की चिंता हैं. उन्‍होंने कहा कि कुलभूषण पर झूठे आरोप लगाए गए हैं और पाक का बर्ताव काफी निंदनीय है. उन्‍होंने कहा कि जाधव के परिवार के साथ ने भारत के 130 करोड़ मां और बहनों के साथ हुआ है. हमारे सरकार के साथ कितने भी मतभेद हो लेकिन जब देश की बात हो तो हम उसे बर्दाश्‍त नहीं कर सकते हैं. भारत की सरकार को पाकिस्‍तान को ये आश्‍वासन दिलाना होगा कि जब तक वो उनकी हिरासत में है वह सुरक्षित रहना चाहिए. 

बुधवार को शून्यकाल में शिवसेना के अरविंद सावंत, तृणमूल कांग्रेस के सौगत राय, कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खडगे, अन्नाद्रमुक के एम थम्बीदुरई समेत अनेक सदस्यों ने सदन में इस मुद्दे को उठाया था. इस पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि वह इस विषय पर गुरुवार को सदन में वक्तव्य देंगी. सदन में इस मुद्दे को उठाते हुए शिवसेना के अरविंद सावंत ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय अदालत के दबाव में पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव के परिवार को उनसे मिलने की इजाजत तो दी लेकिन जाधव की मां और पत्नी के साथ जिस तरह की बदसलूकी की, उसकी कड़ी भर्त्सना की जानी चाहिए.

सावंत ने कहा कि उनकी मां और पत्नी की बिंदी, मंगलसूत्र और यहां तक जूते भी उतरवा लिये गये और बातचीत के समय उनके बीच कांच की दीवार लगा दी गयी. इसके अलावा उन्हें अपने मातृभाषा मराठी में बात नहीं करने दी गयी. शिवसेना सांसद ने कहा था कि पाकिस्तान के इस बर्ताव की जितनी भर्त्सना की जाए, कम है. पाकिस्तान का अर्थ विश्वासघाती है. जाधव को जब तक वापस नहीं लाया जाएगा, हमें चुप नहीं रहना चाहिए. तृणमूल कांग्रेस के सौगत राय ने पाकिस्तान में जाधव परिवार के साथ हुए दुर्व्यवहार की निंदा करते हुए कहा कि पड़ोसी देश ने घटिया हरकत की है। देश के हर कोने से इसकी निंदा होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें : पाकिस्तानी मीडिया बहुत गैर जिम्मेदार : केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजीजू

टिप्पणियां

सदन में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा था कि पाकिस्तान ने जाधव की मां और पत्नी के साथ जो बर्ताव किया है, हम उसका विरोध करते हैं। हम सब उनके साथ हैं. उन्होंने कहा कि जाधव को वापस लाकर देश में मिसाल कायम की जानी चाहिए.

VIDEO: पाकिस्तान ने जाधव की पत्नी के जूते नहीं लौटाए

गौरतलब है कि जाधव की मां और पत्नी ने सोमवार को उनसे पाकिस्तान में मुलाकात की थी. इस दौरान जाधव की मां और पत्नी की चूड़ियां, बिंदी, मंगलसूत्र उतरवा लिया गया था. मंगलवार को विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा था कि यह स्पष्ट रूप से आपसी समझ की भावना का उल्लंघन है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement