NDTV Khabar

राष्‍ट्रपति पद के लिए लालकृष्‍ण आडवाणी सबसे योग्‍य : बीजेपी सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने किया ट्वीट

शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने मंगलवार को कई ट्वीट कर कहा, जैसा कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए अहम दिन करीब आ रहे हैं, मैं दृढ़ता से आडवाणी जी के प्रशंसकों और शुभचिंतकों की भावनाओं को दोहराता हूं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राष्‍ट्रपति पद के लिए लालकृष्‍ण आडवाणी सबसे योग्‍य : बीजेपी सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने किया ट्वीट

भाजपा नेता और पटना साहिब से सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने मंगलवार को ट्वीट कर यह बात कही.
  2. आडवाणी सबसे उपयुक्त, विद्वान, सम्‍मानित, अनुभवी उम्मीदवार- सिन्‍हा
  3. भाजपा ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए तीन-सदस्यीय समिति गठित की है.
नई दिल्‍ली:

राष्‍ट्रपति पद के लिए राजग की तरफ से उम्‍मीदवार का नाम तय किए जाने की कवायद के बीच भाजपा नेता और पटना साहिब से सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने मंगलवार को ट्वीट कर पार्टी के वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी को इस पद के लिए सबसे योग्‍य बताया है. 

सिन्‍हा ने मंगलवार को कई ट्वीट कर कहा, 'जैसा कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए अहम दिन करीब आ रहे हैं, मैं दृढ़ता से आडवाणी जी के प्रशंसकों और शुभचिंतकों की भावनाओं को दोहराता हूं'. उन्‍होंने आगे लिखा, 'वह (लालकृष्‍ण आडवाणी) सबसे प्रतिष्ठित पद के लिए स्पष्ट रूप से सबसे उपयुक्त, विद्वान, सम्‍मानित, अनुभवी और सुयोग्य उम्मीदवार हैं'.
 


दरअसल, सोमवार को ही केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) भारत के अगले राष्ट्रपति पर सर्वसम्मति बनाने को लेकर विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ बातचीत करेगा. केंद्रीय शहरी विकास तथा सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने भुवनेश्वर में कहा, 'हम चाहते हैं कि अगला राष्ट्रपति सर्वसम्मति से चुना जाए. सर्वसम्मत उम्मीदवार के लिए हम विभिन्न राजनीतिक पार्टियों से बातचीत करेंगे.' उन्होंने कहा कि राजग इस मुद्दे पर ओडिशा के बीजू जनता दल (बीजद) के साथ बातचीत के खिलाफ नहीं है.
टिप्पणियां

भाजपा ने 17 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए तीन-सदस्यीय समिति गठित की है, जिसमें राजनाथ सिंह,
अरुण जेटली तथा नायडू शामिल हैं. नायडू ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि उसका ध्यान 3डी (डिसरप्ट, डिसइनफॉर्म एंड डिफेम) पर है.


उल्‍लेखनीय है कि अयोध्या में विवादास्पद ढांचा गिराए जाने के मामले में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी,
पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री मुरली मनोहर जोशी तथा केंद्रीय मंत्री उमा भारती सहित सभी 12 आरोपियों पर सीबीआई की
विशेष अदालत ने बीते माह ही आरोप तय करते हुए आपराधिक साजिश का मुकदमा चलाने की अनुमति दी थी. इससे पूर्व कोर्ट ने 20 हजार के निजी मुचलके पर सभी को ज़मानत दे दी थी, हालांकि सभी आरोपियों ने अदालत से आरोपों को खारिज करने का आग्रह किया था. इनके ऊपर बाबरी मस्जिद गिराने की साजिश करने, दो धर्मों के लोगों के बीच दुश्मनी पैदा करने, धार्मिक भावनाएं भड़काने, राष्ट्रीय एकता को तोड़ने के आरोप हैं. पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने अपने फ़ैसले में कहा था कि बाबरी मस्जिद गिराने की आपराधिक साज़िश करने का मुकदमा आडवाणी, जोशी के खिलाफ लखनऊ की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में चलेगा.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Bigg Boss 13: आसिम रियाज को नफरत करने लगी है 'ग्रैंड मस्ती' की एक्ट्रेस, बोलीं- घिनौना...

Advertisement