Lockdown: नागपुर से तमिलनाडु पैदल जा रहा था मजदूर, हैदराबाद में चक्कर खाकर गिरा, हुई मौत

तमिलनाडु में एक दर्दनाक मामला सामने आया है, जब महाराष्ट्र के नागपुर से अपने घर के लिए रवाना हुआ 23-वर्षीय युवक लगभग 500 किलोमीटर पैदल चलने के बाद गुरुवार तड़के हैदराबाद में चक्कर खाकर गिर पड़ा जिस के बाद उसकी मौत हो गयी.

Lockdown: नागपुर से तमिलनाडु पैदल जा रहा था मजदूर, हैदराबाद में चक्कर खाकर गिरा, हुई मौत

Lockdown में पैदल घर जा रहे मजदूर की मौत

हैदराबाद:

दुनियाभर में कहर बरपा रहा कोरोनावायरस सिर्फ COVID-19 नामक महामारी का शिकार बनाकर लोगों की जान ही नहीं ले रहा है, बल्कि इसके शिकार वे लोग भी हो रहे हैं, जो इससे बचने के लिए लागू किए गए देशव्यापी लॉकडाउन में घर पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं. तमिलनाडु में एक ऐसा ही दर्दनाक मामला सामने आया, जब महाराष्ट्र के नागपुर से अपने घर के लिए रवाना हुआ 23-वर्षीय युवक लगभग 500 किलोमीटर पैदल चलने के बाद गुरुवार तड़के हैदराबाद में चक्कर खाकर गिर पड़ा और उसकी मौत हो गई. उसके साथ मौजूद लोगों का दावा है कि उन्हें न डॉक्टरी सहायता मिली, न सिर छिपाने का ठिकाना, और उन्हें हर जगह से लौटा दिया गया. इन लोगों का कहना था कि उन्हें कोई वाहन भी उपलब्ध नहीं हुआ, और जब उन्होंने ट्रकों या ऑटोरिक्शाओं या ट्रालियों से लिफ्ट भी ले ली, तो भी उतरने के लिए मजबूर किया गया और पुलिस द्वारा पीटा गया.

गौरतलब है कि देश भर में 21 दिनों के ‘लॉकडाउन' की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी. इस घोषणा के बाद भारतीय रेल ने सभी यात्री सेवाएं 14 अप्रैल तक बंद कर दीं. हालांकि देश भर में आवश्यक वस्तुओं को पहुंचाने के लिए माल ढुलाई जारी है. रेलवे ने पहले 22 मार्च से 31 मार्च तक उसकी सभी यात्री सेवाएं बंद रखने की बात कही थी. बाद में लॉकडाउन की अवधि के अनुसार रेल यात्रा सेवाएं 14 अप्रैल तक स्थगित कर दीं. रेल और सड़क यातायात बंद हो जाे के कारण कई जगहों पर मजदूर पैदल ही अपने घरों की तरफ जाने लगे थे. 

VIDEO: Covid-19: लॉक डाउन के कारण पंजाब में फंसे मजदूर

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com