केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की गांधी-नेहरू टिप्‍पणी पर विवाद, चार बार स्‍थगित हुई लोकसभा की कार्यवाही

फाइनेशियल बिल पर चर्चा के दौरान सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) और गांधी परिवार (Gandhi Family) का नाम लेने पर यह हंगामा हुआ. हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही आधे घंटे के लिए स्थगित हुई.

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की गांधी-नेहरू टिप्‍पणी पर विवाद, चार बार स्‍थगित हुई लोकसभा की कार्यवाही

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की टिप्‍पणी को लेकर लोकसभा में कांग्रेस सदस्‍यो ने हंगामा किया (फाइल फोटो)

खास बातें

  • फाइनेंशियल बिल पर चर्चा के दौरान की थी टिप्‍पणी
  • पीएम केयर्स फंड को सही ठहराते हुए कही थी यह बात
  • हंगामे के कारण कार्यवाही आधे घंटे तक स्‍थगित की गई
नई दिल्‍ली:

Parliament Monsoon Session: संसद के मॉनसून सत्र (Parliament Monsoon Session) में शुक्रवार का दिन लोकसभा में हंगामेदार रहा. नेहरू-गांधी परिवार पर केंद्र सरकार के एक मंत्री के कमेंट और एक कांग्रेस नेता द्वारा उन्‍हें (मंत्री को) 'छोकरा' कहने पर संसद के इस सत्र में पहली बार, कई बार कार्यवाही स्‍थगित करने की नौबत आई. इस दौरान विपक्ष के सदस्‍यों ने लोकसभा स्‍पीकर पर 'पक्षपात' का आरोप भी लगाया. दरअसल, आज फाइनेशियल बिल पर चर्चा के दौरान सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) और गांधी परिवार (Gandhi Family) का नाम लेने पर यह हंगामा हुआ. हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही मेंं व्‍यवधान आया. दरअसल, बीजेपी सांसद और केंद्रीय वित्‍त राज्‍य मंत्री मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur)द्वारा सोनिया गांधी और नेहरू-गांधी का नाम लिया गया तो कांग्रेस सांसद उखड़ गए और जमकर हंगामा किया.

COVID-19 : सांसदों की सैलरी में 30 प्रतिशत की कटौती, संसद में बिल पास 

अनुराग ठाकुर ने कहा था कि हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट तक, हर कोर्ट ने पीएम केयर्स फंड (PM Cares Fund)को सही ठहराया.छोटे-छोटे बच्चों ने गुल्लक तोड़कर चंदा दिया. उन्‍होंने आगे कहा, नेहरूजी ने फंड बनाया आज तक उसका रजिस्ट्रेशन नहीं कराया. आपने केवल एक परिवार गांधी परिवार के लिए ट्रस्ट बनाया था. सोनिया गांधी को अध्यक्ष बनाया था, इसकी जांच होनी चाहिए तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा.

सांसदों से बोले वेंकैया नायडू - एग्जाम में पर्ची पास करने की मनाही, लेकिन संसद में कर सकते हैं

ठाकुर की इस टिप्‍पणी का कांग्रेस सांसदों ने जमकर विरोध किया. लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, 'हिमाचल का ये *** कहाँ से आ गया? ये *** कहाँ से आ गया? नेहरूजी कहां से आ गए बहस में? हमने मोदीजी का नाम लिया क्या? ये तीन दिन का ***.' कांग्रेस ने इस मामले में केंद्रीय मंत्री की माफी की मांग की और सदन से वॉकआउट कर गई. हंगामे के बीच लोकसभा स्‍पीकर ओम बिरला को सदन की कार्यवाही चलाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा.यह गरमाहट तब और बढ़ गई जब तृणमूल सांसद ने स्‍पीकर पर आरोप लगाया कि वे बीजेपी सांसदों का बचाव करते हैं. उन्‍होंने कहा-आप चाहे तो हमें निकाल दीजिए. ये नहीं चलेगा. हम नहीं चलने देंगे. दरअसल, स्‍पीकर ने कहा था कि कोई अगर सुरक्षा से खिलवाड़ करने की कोशिश करेगा तो नाम लेकर सदन से बाहर जाने को भी कह सकता हूँ. मॉस्क लगा कर बोलिए.हंगामे के चलते लोकसभा अध्यक्ष सदन की कार्यवाही स्‍थगित करनी पड़ी और उन्‍होंने मामले के समाधान निकालने के लिए सदन में मौजूद नेताओं की अनौपचारिक बैठक बुलाई. हालांकि बाद में जब सदस्‍य वापस लौटे तब भी हंगामा नहीं थमा और फिर से कार्यवाही स्‍थगित करनी पड़ी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

संसद सत्र से पहले बोले PM मोदी- कोरोना भी है और कर्तव्य भी