NDTV Khabar

मोदी जी से मेरी बहस करा दो, भाग जाएंगे, वह डरपोक आदमी हैं: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा, 'आरएसएस का लक्ष्य है कि भारत का संविधान दूर करके इस देश को नागपुर से चलाया जाए. न्यायिक क्षेत्र में आरएसएस के आदमी, चुनाव आयोग में आरएसएस के लोग, सीबीआई चीफ आरएसएस का आदमी है.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव 2019 (LoK Sabha Election) से ठीक पहले कांग्रेस (Congress)की नजर अल्पसंख्यक वोटरों पर है. कांग्रेस के राष्ट्रीय अल्पसंख्यक सम्मेलन को संबोधित करते हुएराहुल गांधी (Rahul Gandhi)ने पीएम मोदी ौर बीजेपी के साथ-साथ आरएसएस (RSS) संघ प्रमुख मोहन भागवत पर जमकर हमला बोला. राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) पर हमला बोलते हुए कहा कि किसी भी देश के पीएम को तोड़ने वाला नहीं, जोड़ने वाला होना चाहिए, नहीं तो ऐसे पीएम को हटा देना चाहिए. राहुल गांधी ने कहा कि आरएसएस नागपुर से देश चलाना चाहता है. राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर हमला बोला और एक बार फिर से डिबेट करने की चुनौती दी. राहुल गांधी ने कहा कि 'मोदी जी से मेरी बहस करा दो, भाग जाएंगे, वह डरपोक आदमी हैं''.

BJP और RSS को कांग्रेस हराएगी


राहुल गांधी ने कहा कि आप नरेंद्र मोदी का चेहरा ध्यान से देखेंगे तो दिखेगा कि उनके चेहरे पर घबराहट है. नरेंद्र मोदी जी को पता लग गया है कि देश को बांटकर, नफरत फैलाकर हिन्दुस्तान पर राज नहीं कि जा सकता. हिन्दुस्तान के प्रधानमंत्री को देश को जोड़ने का काम कर करना चाहिए, अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो उन्हें हटा देना चाहिए. पांच साल पहले कहा जाता था कि नरेंद्र मोदी जी की 56 इंच की छाती है, 15 साल राज करेंगे. आज कांग्रेस पार्टी ने नरेंद्र मोदी की प्रतिष्ठा की धज्जियां उड़ा दी हैं. चाहे किसान की बात हो, मजदूर की बात हो, गरीब की बात हो, करप्शन की बात हो, जहां भी आप देखेंगे मोदी जी की सच्चाई कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने देश को बताई है. 2019 में नरेंद्र मोदी, भाजपा और आरएसएस को कांग्रेस हराने जा रही है. 

दौरे से पहले भोपाल में 'राम भक्त' राहुल गांधी और 'हनुमान भक्त' कमलनाथ के लगे पोस्टर

यह देश किसी एक जाति या धर्म का नहीं है

अल्पसंख्यकों की बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा, 'यह देश किसी एक जाति, धर्म, प्रदेश और भाषा का नहीं है. यह देश हिन्दुस्तान के हर एक व्यक्ति का है. हमारे अल्पसंख्यकों ने हर कदम पर देश को बनाने का काम किया है. यह देश हम सबका है. देश में दो विचारधारा हैं. एक कहती है कि यह देश सोने की चिड़िया है. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कहते हैं कि यह देश सोने की चिड़िया है. मतलब यह देश एक प्रोडेक्ट है. सोने की चिड़िया से सोना मिलता है और उसका फायदा चुने हुए लोगों को ही मिलना चाहिए. दूसरी विचारधारा कहती है कि यह देश एक नदी है. जो अपने अंदर सभी को समाए हुए चलती है. हर एक व्यक्ति को इस नदी में जगह मिलनी चाहिए. कोई कुछ भी बोले हर किसी को इस देश में जगह मिलनी चाहिए.

कांग्रेस महासचिव का पद संभालते ही गूंज उठा नारा: 'प्रियंका गांधी आई हैं, नयी रोशनी लाई हैं'

राहुल गांधी ने कहा कि अगर आप अंतरिक्ष कार्यक्रमों की बात करेंगे तो आपको विक्रम साराभाई की बात करना होगा. वो जैन थे. अगर आप उदारीकरण की बात करेंगे तो आपको मनमोहन सिंह जी की बात करनी होगी. वो सिख हैं. यदि आप 1971 के जीत की बात करेंगे तो आपको मानेकशॉ की बात करनी होगी, वे पारसी थे. अगर आप आईआईटी, आईआईएम की बात करेंगे तो आपको मौलाना आजाद की बात करनी होगी. वो देश के पहले शिक्षा मंत्री थे और मुस्‍लिम थे.

राहुल गांधी ने कहा, PM मोदी हताश हैं, कार्यकर्ता ना लगाए मुर्दाबाद के नारे

नागपुर से देश चलाना चाहता है RSS

आरएसएस के बारे में राहुल गांधी ने कहा, 'आरएसएस का लक्ष्य है कि भारत का संविधान दूर करके इस देश को नागपुर से चलाया जाए. न्यायिक क्षेत्र में आरएसएस के आदमी, चुनाव आयोग में आरएसएस के लोग, सीबीआई चीफ आरएसएस का आदमी है. उनका लक्ष्य हिन्दुस्तान के हर संस्थान को खत्म करना है. वे चाहते हैं कि देश के नागपुर से चलाया जाए. वे चाहते हैं कि आरएसएस के प्रमुख पूरे देश को चलाएं. बीजेपी मोदी को आगे रखना चाहती है और उसका रिमोट कंट्रोल मोहन भागवत के हाथ में चाहती है.

ओडिशा में गरजे राहुल, मोदी ने राफेल, नवीन पटनायक ने चिटफंड दिया, हम आपके खाते में पैसा देंगे

BJP खुद को देश से ऊपर समझती है

राहुल ने कहा, हमारा कहना है कि हिन्दुस्तान के संस्थान किसी पार्टी के नहीं है. देश के सभी संस्थानों की रक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है. नरेंद्र मोदी जी के प्रधानमंत्री रहते हुए सुप्रीम कोर्ट के चार जज बाहर आकर कहते हैं कि हमें काम नहीं करने दिया जा रहा है. वे जस्टिस लोहिया का नाम लेते हुए अनौपचारिक तौर पर कहते हैं कि अमित शाह सुप्रीम कोर्ट को काम नहीं करने दे रहे हैं. वे अपने आपको भारत से ऊपर समझते हैं. उनका सोचना है कि यह देश नीचे है और वे उससे ऊपर हैं.

डिनर पर राहुल ने छात्रों से क्या कहा था? जानें उस दिन की कहानी, 20 साल की प्रतिष्ठा की जुबानी

तीन महीने में यह देश इनको समझाने जा रहा है कि देश ऊपर है और आप नीचे, मैं आपको मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के बारे में बताने जा रहा हूं. 15 साल से एमपी और छत्तीसगढ़ में भाजपा ने सरकार नहीं चलाई. हर संस्थान में अपने लोगों को डाल रखा है. कमलनाथ जी ने मुझे बताया कि मध्य प्रदेश में एक विशेष मंत्रालय बनाया गया और उसमें 800 करोड़ रुपए डाले. इस मंत्रालय से 800 करोड़ रुपए आरएसएस के लोगों को दिए गए. एक मंत्रालय में सभी लोग आरएसएस के हैं. राजस्थान में वे लोग नहीं कर पाए, क्योंकि पहले हम वहां सरकार चला रहे थे. 

'समान पद, बराबर कद': एक ही कमरे में बैठेंगे प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया, दोनों की लगी नेम प्लेट

RSS के लोगों को बाहर निकालेंगे

टिप्पणियां

कांग्रेस अध्यक्ष ने साथ ही कहा कि हम सिर्फ वहां चुनाव नहीं जीते, इन राज्यों में आरएसएस के लोगों को सरकार के संस्थान से बाहर निकालने का काम करेंगे. इन प्रदेशों और देश के नौकरशाहों को यह बात मालूम होनी चाहिए कि आप आरएसएस के लिए काम नहीं करते, आप हिन्दुस्तान के लिए काम करते हैं. 

VIDEO- लालूजी और तेजस्वी के साथ मिलकर कांग्रेस फ्रंटफुट पर खेलेगी : राहुल गांधी


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement