NDTV Khabar

ईवीएम नहीं; मतपत्र से कराया जाए 2019 का लोकसभा चुनाव, विपक्ष करेगा मांग

तृणमूल कांग्रेस समेत 17 राजनीतिक दलों की बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग के लिए चुनाव आयोग से संपर्क करने की योजना

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ईवीएम नहीं; मतपत्र से कराया जाए 2019 का लोकसभा चुनाव, विपक्ष करेगा मांग

ममता बनर्जी सोनिया और राहुल गांधी से मिलीं.

खास बातें

  1. योजना पर चर्चा करने के लिए विपक्षी पार्टियों की बैठक अगले हफ्ते
  2. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी विपक्षी दलों का समर्थन जुटाने में जुटी
  3. बीजेपी की सहयोगी शिवसेना से भी प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा बनने की अपील
नई दिल्ली: तृणमूल समेत 17 राजनीतिक दल इस मांग के साथ चुनाव आयोग से संपर्क करने की योजना बना रहे हैं कि 2019 का लोकसभा चुनाव मतपत्र से कराया जाए. ये 17 विपक्षी दल इस योजना पर चर्चा करने के लिए अगले हफ्ते बैठक करेंगे.

तृणमूल नेता डेरक ओ ब्रायन ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह एक ऐसा मामला है जिस पर सभी विपक्षी दल सहमत हैं. हमारी अगले हफ्ते बैठक करने की योजना है. हमने चुनाव आयोग से संपर्क करने और यह मांग करने की योजना बनाई है कि चुनाव आयोग अगला लोकसभा चुनाव मतपत्र से कराए. ’’

यह भी पढ़ें : विपक्ष के बाद अब BJP ने उठाए EVM पर सवाल, फड़णवीस बोले- भंडारा-गोंदिया उपचुनाव खराब ईवीएम के चलते हारे

इस मामले पर सभी विपक्षी दलों का समर्थन जुटाने की पहल तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने बुधवार को की थी जब वह 19 जनवरी की अपनी रैली के लिए विपक्षी नेताओं को न्यौता देने के लिए उनसे मिलने संसद आई थीं. बनर्जी को संसद में तृणमूल कांग्रेस के कार्यालय में उनसे मिलने आए नेताओं से यह अपील करते हुए सुना गया कि वे ईवीएम में छेड़छाड़ की रिपोर्ट तथा 2019 का चुनाव मतपत्र से कराने की मांग को लेकर संयुक्त प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग के पास भेजें.

टिप्पणियां
VIDEO : उपचुनाव में भी EVM पर सवाल

तृणमूल कांग्रेस ने इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों की निष्पक्षता पर सवाल खड़ा करते हुए संसद के बाहर प्रदर्शन किया था. उसने मांग की थी कि 2019 के चुनाव में मतपत्र वापस लाया जाए. पश्चिम बंगाल के सत्तारूढ़ दल ने कहा कि यह एक ऐसा साझा कार्यक्रम है जो विपक्षी दलों को एकजुट करेगा. सबसे रोचक तो यह है कि बनर्जी ने भाजपा की सहयोगी शिवसेना से भी इस प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा बनने की अपील की. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने पहले मांग की थी कि 2019 का चुनाव ईवीएम के स्थान पर मतपत्र से कराया जाए.
(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement