NDTV Khabar

पासपोर्ट पर छपा कमल का निशान! विदेश मंत्रालय ने 'राष्ट्रीय पुष्प' बताकर दी सफाई

लोकसभा में नए पासपोर्ट पर कमल का निशान छापने को लेकर उठाए गए सवाल, विदेश मंत्रालय ने कहा फर्जी पासपोर्ट का पता लगाने के लिए

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पासपोर्ट पर छपा कमल का निशान! विदेश मंत्रालय ने 'राष्ट्रीय पुष्प' बताकर दी सफाई

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. पासपोर्ट पर कमल का निशान सुरक्षा विशेषता का हिस्सा
  2. आगे भी पासपोर्टों पर अलग-अलग राष्ट्रीय प्रतीक छापे जाएंगे
  3. अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन संगठन के दिशानिर्देशों का हिस्सा
नई दिल्ली:

पासपोर्ट पर कमल का निशान छापे जाने पर विपक्ष मोदी सरकार पर निशाना साध रहा है. दूसरी तरफ विदेश मंत्रालय ने कमल के निशान पर सफाई दी है कि यह फर्जी पासपोर्ट की पहचान करने के लिए सुरक्षा के मद्देनजर उठाया गया कदम है. कमल का निशान बीजेपी का चुनाव चिन्ह है. इस मुद्दे पर विदेश मंत्रालय कहता है कि कमल हमारा राष्ट्रीय पुष्प है. आगे भी पासपोर्टों पर अलग-अलग राष्ट्रीय प्रतीक छापे जाएंगे.  

विपक्षी सदस्यों द्वारा लोकसभा में नए पासपोर्ट पर कमल का निशान छापने को लेकर उठाए गए सवाल के एक दिन बाद गुरुवार को विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह फर्जी पासपोर्ट का पता लगाने और सुरक्षा मजबूत करने की विशेषताओं का हिस्सा है. अन्य राष्ट्रीय प्रतीकों का भी बारी-बारी से इस्तेमाल किया जाएगा.

कांग्रेस सदस्य एमके राघवन ने केरल के कोझिकोड में बांटने के लिए आए नए पासपोर्ट पर कमल का निशान होने का मुद्दा उठाते हुए कहा कि एक अखबार ने इस खबर को प्रकाशित किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी के चुनावी चिह्न कमल के साथ यह सरकारी प्रतिष्ठानों का ‘‘और भगवाकरण'' है.


'हम देहे जात रहिन कमल पर, हाथ पकड़के पंजा पर धर दिहिन': VIDEO शेयर कर स्मृति ईरानी ने लगाया बूथ कैप्चरिंग का आरोप

इस बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘‘यह निशान हमारा राष्ट्रीय पुष्प है और यह फर्जी पासपोर्ट का पता लगाने के लिए लाई गई परिष्कृत सुरक्षा विशेषता का हिस्सा है.'' उन्होंने कहा, ‘‘ये सुरक्षा विशेषता अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन संगठन (आईसीएओ) के दिशानिर्देशों का हिस्सा है.

विवादास्पद धर्मगुरु नित्यानंद ने लैटिन अमेरिका में द्वीप खरीदा, हिन्दू राष्ट्र की नींव रखी!

प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ कमल के अलावा बारी-बारी से अन्य राष्ट्रीय प्रतीकों का भी उपयोग किया जाएगा. अभी कमल का इस्तेमाल किया गया था. अगले महीने कुछ और होगा. ये प्रतीक भारत से जुड़े हैं जैसे राष्ट्रीय पुष्प या राष्ट्रीय पशु.''

टिप्पणियां

VIDEO : विवादास्पद धर्मगुरु नित्यानंद ने द्वीप खरीदा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... Jhund Teaser: अमिताभ बच्चन की 'झुंड' का टीजर रिलीज, 'सैराट' के डायरेक्टर का दिखा पॉवरफुल अंदाज

Advertisement