MP : कोरोना के चलते पाबंदियों को नजरअंदाज कर गोटमार मेले में की गई पत्थरबाजी, 110 लोग घायल

देश में कोरोनावायरस के कहर के बावजूद मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में हर साल आयोजित किए जाने वाले गोटमार मेले का इस बार भी आयोजन किया गया. इस मेले में दो गांवों के लोग एक दूसरे पर पत्थर फेंकते हैं.

MP : कोरोना के चलते पाबंदियों को नजरअंदाज कर गोटमार मेले में की गई पत्थरबाजी, 110 लोग घायल

छिंदवाड़ा में कोरोनावायरस के बावजूद हुआ गोटमार मेले का आयोजन.

भोपाल:

देश में कोरोनावायरस के कहर के बावजूद मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में हर साल आयोजित किए जाने वाले गोटमार मेले का इस बार भी आयोजन किया गया. इस मेले में दो गांवों के लोग एक दूसरे पर पत्थर फेंकते हैं. बुधवार को छिंदवाड़ा के पांढुर्ना इलाके में हुए इस मेले में 110 लोग घायल हुए हैं, वहीं पुलिस की एक गाड़ी क्षतिग्रस्त भी हो गई है. मेले के दौरान के फुटेज भी सामने आए हैं, जिसमें साफ दिख रहा है कि यहां न तो कोरोनावायरस का खौफ है न पुलिस का डर. धारा 144 लागू होने के बावजूद वीडियो में देखा जा सकता है कि नदी के किनारे और पुल पर सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद हैं. वहीं बहुत से लोगों ने मास्क भी नहीं लगा रखा है. 

इस मेले के आयोजन के चलते यहां दो अतिरिक्त एसपी, सात SDOP, 10 पुलिस इंचार्ज, 30 SI और 50 ASI की तैनाती हुई थी, लेकिन पुलिस की ओर से कोई एक्शन नहीं लिया गया.

बता दें कि छिंदवाड़ा के इस इलाके में होने वाले इस सालाना मेले की प्रथा है कि इस दौरान दो गांवों के लोग एक दूसरे पर पत्थर फेंकते हैं. इस बार कोरोनावायरस महामारी के चलते लॉकडाउन जैसी स्थिति है. वहीं संक्रमण रोकने के लिए धारा 144 लागू की गई है, ताकि लोग भीड़ में इकट्ठा न हो, लेकिन इस घटना में देखा जा सकता है कि न यहां पर कोरोनावायरस को लेकर कोई सतर्कता है, न ही धारा 144 लागू होने का कोई मतलब.

Video: चर्चा : उप चुनाव के मद्देनजर शिवराज सरकार का फैसला? MP वालों को ही सरकारी नौकरी!

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com