मध्यप्रदेश के इस शहर ने कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने में कुछ ऐसे पाई कामयाबी...

ये वो शहर है जहां एक नहीं एक साथ चार मरीज़ कोरोना संक्रमित पाये गये थे जिसकी वजह से मध्यप्रदेश कोरोना के मैप पर आ गया था.

मध्यप्रदेश के इस शहर ने कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने में कुछ ऐसे पाई कामयाबी...

Madhya Pradesh Coronavirus Updates: जबलपुर में एक ही दिन में 4 कोरोना संक्रमित मिले थे

भोपाल:

Madhya Pradesh Coronavirus Updates: मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल और इंदौर जैसे शहरों में जहां कोरोना संक्रमण के मामले रोज़ बढ़ रहे हैं, वहीं एक शहर ने इस चक्र को तोड़ने में कामयाबी हासिल की है. पिछले 12 दिनों से जबलपुर में कोरोना संक्रमण का कोई नया मामला नहीं आया है, ये वो शहर है जहां एक नहीं एक साथ चार मरीज़ कोरोना संक्रमित पाये गये थे जिसकी वजह से मध्यप्रदेश कोरोना के मैप पर आ गया था. शहर में दुबई से लौटे एक जौहरी, उनकी पत्नी और बेटी, के अलावा जर्मनी से लौटा एक शख्स 20 मार्च को घातक कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये, ऐसे में कलेक्टर भरत यादव, एसपी अमित सिंह और सीएमएचओ डॉ. मनीष मिश्रा ने बिना किसी देरी के शहर में पूरे लॉकडाउन का ऐलान कर दिया.

कलेक्टर भरत यादव ने "एडवांस कांटेक्ट ट्रेसिंग" का आदेश दिया ताकि किसी भी "कड़ी" को ट्रैक किया जा सके. उन्होंने जो लोग विदेश यात्रा करके आए थे, ऐसे लगभग 600 लोगों को होम क्वारंटाइन में रखा, उल्लंघन करने वालों पर एफआईआर दर्ज हुई. पुलिस और खुफिया नेटवर्क जुटाए गए और चार मरीजों के प्राथमिक संपर्क में आनेवाले लोगों को ना सिर्फ जबलपुर बल्कि 132 किलोमीटर दूर मंडला तक रात में ही पता लगाया गया. जिनके COVID-19 संक्रमण जैसे लक्षण थे उन्हें फौरन अस्पताल में भर्ती कराया गया.

एसपी अमित सिंह के नेतृत्व में पुलिस ने लगभग 2000 युवा स्वयंसेवकों की कोरोना फाइटर्स नाम से एक सेना बनाई जो सामाजिक दूरी को सुनिश्चित कर सके जिसने किराना, दवा की दुकानों और दूध बूथों के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने का काम किया. जबलपुर पुलिस ने भी जो भी लॉकडाउन का उल्लंघन करते मिले उन्हें हरे, लाल, पीले और सफेद रंग के चेतावनी कार्ड देना शुरू किया ताकि दूसरी और तीसरी दफा उल्लंघन करने पर सख्त सज़ा दी जा सके.

असर साफ नज़र आया नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज के बाद जौहरी और उनकी पत्नी, बायोटेक्नोलॉजी के छात्र और जौहरी के संपर्क में आए लोगों का संक्रमण खत्म हो गया है और उन्हें अस्पताल से भी डिस्चार्ज किया जा चुका है. पिछले 12 दिनों से शहर में संक्रमण का कोई नया मामला नहीं आया है.

केंद्र सरकार कर रही है विचार, बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन- सूत्र

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com