VIDEO: जब एम्बुलेंस नहीं पहुंची, 10 KM साइकिल चलाकर खुद ही अस्पताल पहुंचा COVID-19 मरीज़

मजबूरी में शहर के बीचों बीच होते हुए कई किलोमीटर का साइकिल का सफर तय करना पड़ा. वह खुद 10 किलोमीटर साइकिल चलाकर मेडिकल कालेज भर्ती होने पहुंचा. 

VIDEO: जब एम्बुलेंस नहीं पहुंची, 10 KM साइकिल चलाकर खुद ही अस्पताल पहुंचा COVID-19 मरीज़

मध्य प्रदेश में साइकिल चलाकर अस्पताल पहुंचा कोरोना का मरीज़

खास बातें

  • 10 किलोमीटर साइकिल चलाकर मेडिकल कालेज भर्ती होने पहुंचा कोरोना मरीज
  • उच्च स्वास्थ्य सुविधा के दावों की खुली पोल
  • अधिकारी बोले- संसाधन की कोई कमी नहीं
शहडोल :

कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ एक तरफ जहां पूरा देश मुस्तैदी के साथ लड़ रहा है तो वहीं प्रदेश की शिवराज सरकार भी इसको रोकने को लेकर अपने प्रयासों के बढ़ चढ़कर दावे कर रही है, लेकिन इन दावों की जमीनी हकीकत कुछ और बयां कर रही है, मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के शहडोल (Shahdol) में एक कोरोना पॉजिटिव मरीज युवक को लाख कोशिशों के बाद भी एम्बुलेंस जैसे अन्य साधन नहीं मिलने से मजबूरी में शहर के बीचों बीच होते हुए कई किलोमीटर का साइकिल का सफर तय करना पड़ा. वह खुद 10 किलोमीटर साइकिल चलाकर मेडिकल कालेज भर्ती होने पहुंचा. 

प्रदेश सरकार की उच्च स्वास्थ्य सुविधा के दावों की पोल खोलती यह तस्वीर शहडोल जिले की है. मध्यप्रदेश के शहडोल संभागीय मुखयालय के पांडव नगर वार्ड नम्बर सात में रहने वाले धर्मेंद्र सेन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो परिवार वालों के साथ वो खुद दहशत में आ गया. पडोसी और मोहल्ले वाले मेडिकल कालेज में भर्ती होने के लिए दवाब बनाने लगे. कोरोना पीड़ित को मेडिकल कालेज में भर्ती होने के लिए फोन आया, लेकिन उसे लेने न एम्बुलेंस आयी न ही स्वास्थ्य विभाग का कोई अमला. 

युवक के परिजन और युवक एम्बुलेंस के लिए फोन लगाते रहे लेकिन एम्बुलेंस नहीं आई. थक हार कर मोहल्ले वालों के दवाब के चलते धर्मेंद्र कोरोना पॉजिटिव होते हुए भी शहर के बीच में होते हुए दस किलोमीटर साइकिल चलाकर मेडिकल कालेज भर्ती होने पंहुचा. 

शहडोल में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है जिसकी वजह से व्यवस्था चरमरा रही है. 
3 सितम्बर तक जिले में 711 मरीज कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. जिसमें 7 लोगों की मौत हो गयी है. 425 लोग ठीक हुए हैं.

Newsbeep

वही इस मामले में स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार जिला के मुखिया सीएमएचओ एक तरफ तो कोरोना मरीजो को इलाज के लिए लाने ले जाने के लिए पर्याप्त साधन की बात कहते हुए नही थके. शहडोल के सीएमएचओ डॉक्टर राजेश पांडेय ने कहा, "हमारे पास संसाधनों की कोई कमी नहीं है. लोगों से अपील है कि धैर्य रखें और हमारे संपर्क में रहे. हमारे पास संसाधनों की कोई कमी नहीं है." 

वीडियो: देश में कोरोना के मामले 39 लाख पार, अब तक 4.66 करोड़ से ज्यादा हुए टेस्ट

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com