MP का सियासी घमासान: BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा के बेटे के रिसेप्शन से शुरू हुई थी कहानी, अमित शाह ने तीन दिन बाद लगाई थी मुहर

कांग्रेस को जबरदस्त झटका देते हुए पार्टी के प्रमुख युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी से त्यागपत्र दे दिया. सिंधिया के साथ ही उनके समर्थक पार्टी के 21 विधायकों के इस्तीफे से राज्य की कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं.

MP का सियासी घमासान: BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा के बेटे के रिसेप्शन से शुरू हुई थी कहानी, अमित शाह ने तीन दिन बाद लगाई थी मुहर

जेपी नड्डा के बेटे के रिसेप्शन की तस्वीर.

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के बेटे के रिसेप्शन में कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की कमलनाथ के खिलाफ बगावत की शुरुआत हुई थी. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ज्योतिरादित्य को भाजपा के समर्थन को उसके तीन दिन बाद मंजूरी दी थी. यह जानकारी एनडीटीवी को सूत्रों ने दी है. मंगलवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पीएम मोदी और अमित शाह से मुलाकात के बाद कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया. इसके साथ ही कांग्रेस के 21 विधायक ने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया. इससे मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार को बड़ा झटका लगा है. ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के कुछ देर बाद ही उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया. बताया जा रहा है कि सिंधिया जल्द ही भाजपा ज्वाइन कर सकते हैं. वहीं उन्हें मोदी कैबिनेट में मंत्री पद दिया जा सकता है.

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली में जेपी नड्डा के बेटे गिरिश के रिसेप्शन में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने पार्टी नेताओं को सिंधिया के कमलनाथ के खिलाफ बगावती सुरों के बारे में जानकारी दी. इसके साथ ही उन्होंने सिंधिया खेमे के विधायकों के बारे में भी भाजपा नेताओं को बताया. इस रिसेप्शन में पीएम मोदी भी शामिल हुए थे. तीन दिन अमित शाह ने सिंधिया की भाजपा में एंट्री को मंजूरी दे दी. 

BJP के इस नेता ने आलाकमान से की सिंधिया के लिए बात, इनके भरोसे पर लिखी गई 'ऑपरेशन लोटस' की पटकथा, पढ़ें इनसाइड स्टोरी

बता दें, कांग्रेस को जबरदस्त झटका देते हुए पार्टी के प्रमुख युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी से त्यागपत्र दे दिया. सिंधिया के साथ ही उनके समर्थक पार्टी के 21 विधायकों के इस्तीफे से राज्य की कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. कांग्रेस छोड़ने वाले 49 वर्षीय सिंधिया केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं. उनकी दादी दिवंगत विजय राजे सिंधिया इसी पार्टी में थीं. ऐसी अटकले हैं कि सिंधिया को राज्यसभा का टिकट दिया जा सकता है और उन्हें केंद्रीय मंत्री बनाया जा सकता है. कांग्रेस ने पार्टी विरोधी गतिविधि के कारण पार्टी के महासचिव एवं पूर्ववर्ती ग्वालियर राजघराने के वंशज ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी से निष्कासित कर दिया. 

मध्य प्रदेश में चल रही सियासी घमासान पर बोले राज्यपाल- अभी मैं दर्शक हूं, जब तक...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मंगलवार सुबह जब पूरा देश होली का जश्न मना रहा था, तभी सिंधिया ने भाजपा के वरिष्ठ नेता और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके 7, लोक कल्याण मार्ग स्थित आवास पर मुलाकात की. बैठक में क्या बातचीत हुई, इस बारे में आधिकारिक रूप से कुछ भी नहीं कहा गया है.

वीडियो: मध्य प्रदेश में राजनीतिक भूचाल