BHU का छात्र वाराणसी पुलिस के हिरासत में लेने के बाद छह महीने से लापता

लापता छात्र शिवकुमार के पिता प्रदीप कुमार त्रिवेदी अपने बेटे का पोस्टर सीने से लगाए बनारस के अलग-अलग इलाकों में उसे ढूंढ रहे

BHU का छात्र वाराणसी पुलिस के हिरासत में लेने के बाद छह महीने से लापता

प्रतीकात्मक तस्वीर

वाराणसी:

एक पिता मध्यप्रदेश से बनारस आकर छह महीने से खोए अपने बेटे को खोज रहे हैं. उनका बेटा बीएचयू का छात्र है. वे बताते हैं कि बेटे को छह महीने पहले पुलिस ले गई थी. बीएससी सेकंड ईयर में पढ़ने वाले शिव कुमार त्रिवेदी का उसके बाद कुछ पता नहीं है. पिता ने अब हाइकोर्ट से गुहार लगाई है. लापता छात्र शिवकुमार के पिता प्रदीप कुमार त्रिवेदी कहते हैं कि ''मैं एक संकल्प के साथ निकला हूं. जब तक मेरा पुत्र नहीं मिलेगा, मैं जूते-चप्पल नहीं पहनूंगा, मैं एक ही टाइम आहार करूंगा और अगर नहीं मिला तो लंका के थाने के सामने आत्मदाह कर लूंगा, लेकिन घर नहीं जाऊंगा.''

मध्यप्रदेश के पन्ना में रहने वाले प्रदीप कुमार त्रिवेदी का बेटा 6 महीने से लापता है.  इन महीनो में हर सुबह वे अपने बेटे का पोस्टर सीने से लगाए बनारस के अलग-अलग इलाकों में लोगों से पूछते हैं, कहीं कुछ पता चल जाए. पिता यह भी बताते हैं कि छह महीने पहले 13 फरवरी को लंका थाने की पुलिस 112 नंबर की गाड़ी से सुबह 8.30 बजे उसे अपने साथ ले गई थी.

प्रदीप कुमार त्रिवेदी ने बताया कि ''16 फरवरी को मैंने मिसिंग की रिपोर्ट लिखाई तो लंका थाने वालों ने कोई डिटेल नहीं दिया. एसपी प्रभाकर चौधरी के पास गए. तब लंका थाने ने कहा कि शिव कुमार त्रिवेदी यहां पर था और हमने उसको छोड़ दिया है. उसने कपड़े में टट्टी-पेशाब किया था. उसके बाद शिवकुमार को ढूंढता रहा, लेकिन आज तक पता नहीं चला.'' 

अब तक पिता को अपने बेटे का कोई सुराग नहीं मिला है. पुलिस ने 16 फरवरी की गुमशुदगी रिपोर्ट की पुष्टि की है, लेकिन उसका बयान कई सवाल खड़े कर रहा है.

Newsbeep

वाराणसी के लंका-भेलूपुर जोन के डीएसपी अजित सिंह बघेल ने कहा कि ''लगातार पुलिस उसकी तलाश कर रही है लेकिन अभी कुछ सफलता नहीं मिली. 112 नंबर की गाड़ी में 13 फरवरी को एक विक्षिप्त आदमी को थाने पर लाकर बैठाया गया था. कुछ लोगों का कहना है कि वह विक्षिप्त आदमी वही था, लेकिन अभी यह नहीं पता कि वही था या दूसरा.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सोशल मीडिया पर इस बेबस पिता की खबर वायरल होने पर बीएचयू के लॉ फेकल्टी के एक पूर्व छात्र और वकील ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में पीआईएल दाखिल की है. याचिकाकर्ता वकील सौरव तिवारी ने कहा कि ''माननीय मुख्य न्यायाधीश महोदय ने कोर्ट में कहा कि हम इस मामले में सीबीआई इन्क्वारी करेंगे और जरूरत हुई तो थाने को लाइन हाजिर करेंगे. उसी दिन माननीय न्यायालय ने यह आदेश जारी किया कि एसएसपी महोदय खुद हाजिर हों. 3 सितंबर को सुनवाई है, मैं छात्र का पक्ष रखूंगा और हमें उम्मीद है कि न्याय हमें मिलेगा.''  गुरुवार को इस मामले में सुनवाई है. अब न्यायालय से उम्मीद है.