महाराष्‍ट्र: नवाब मलिक बोले, 'कुछ लेाग 12 NCP विधायकों के BJP में जाने की झूठी अफवाह फैला रहे'

नवाब मलिक ने ट्वीट किया, 'कुछ लोग यह अफवाह फैलस रहे कि 12 एनसीपी विधायक, बीजेपी (BJP)से जुड़ने वाले हैं. यह आधारहीन और मनगढ़ंत खबर है. जो विधायक विधानसभा चुनाव के पहले बीजेपी में गए थे, वे भी एनसीपी (NCP) में वापस आने के इच्‍छुक है.'

महाराष्‍ट्र: नवाब मलिक बोले, 'कुछ लेाग 12 NCP विधायकों के BJP में जाने की झूठी अफवाह फैला रहे'

नवाब मलिक महाराष्‍ट्र सरकार में एनसीपी कोटे से कैबिनेट मंत्री हैं

खास बातें

  • कहा, बीजेपी में गए हमारे नेता वापस आना चाह रहे
  • महाराष्‍ट्र सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं नवाब मलिक
  • राज्‍य में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की गठबंधन सरकार है
नई दिल्ली:

महाराष्‍ट्र के कैबिनेट मंत्री और राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता नवाब मलिक (Nawab Malik)ने सोमवार को आरोप लगाया कि कुछ लोग यह आधारहीन अफवाह फैला रहे हैं कि उनकी पार्टी के 12 विधायक भारतीय जनता पार्टी (BJP) ज्‍वॉइन करने वाले हैं. नवाब ने यह भी दावा किया कि पार्टी के जो नेता वर्ष 2019 के विधानसभा चुनाव के पहले बीजेपी में गए थे वे अब पार्टी में लौटने के इच्‍छुक हैं.

महाराष्‍ट्र के CM उद्धव ठाकरे बोले, 'मैं ट्रंप नहीं हूं, अपनी आंखों के सामने..'

मलिक ने ट्वीट किया, 'कुछ लोग यह अफवाह फैलाा रहे कि 12 एनसीपी विधायक, बीजेपी (BJP)से जुड़ने वाले हैं. यह आधारहीन और मनगढ़ंत खबर है. जो विधायक विधानसभा चुनाव के पहले बीजेपी में गए थे, वे भी एनसीपी (NCP) में वापस आने के इच्‍छुक हैं. इस बारे में अभी कोई निर्णय नहीं हुआ है. इस बारे में जल्‍द ही कोई निर्णय लेकर जानकारी लोगों को दी जाएगी.'

गौरतलब है कि महाराष्‍ट्र विधानसभा में इस समय शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की गठबंधन सरकार उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के नेतृत्‍व में काम कर रही है. राज्‍य विधानसभा में बीजेपी ने सबसे ज्‍यादा 105 सीटें हासिल की थीं. शिवसेना के खाते में 56 सीटें आई थीं जबकि एनसीपी के 54 और कांग्रेस के 44 उम्‍मीदवारों ने जीत हासिल की थी. राज्‍य में विधानसभा की 288 सीटें हैं. बीजेपी-शिवसेना के गठबंधन ने चुनाव में स्‍पष्‍ट बहुमत हासिल किया था लेकिन इसके बावजूद इस गठबंधन की सरकार नहीं बन सकी थी. मुख्‍यमंत्री किस पार्टी का हो, इसे लेकर बीजेपी और शिवसेना में गंभीर मतभेद उभर आए थे, इसके फलस्‍वरूप शिवसेना ने बीजेपी का साथ छोड़ दिया था. बाद में शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनार्ई थी. 

Newsbeep

महाराष्ट्र में इस साल नहीं होगा दही हांडी का आयोजन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)