अमित शाह ने कहा- जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 चला गया, खून की नदियां तो क्या एक कतरा भी नहीं गिरा

अमित शाह ने कहा कि हमारा शुरू से साफ रुख रहा है कि कश्मीर के मुद्दे पर हम किसी दूसरे देश का हस्तक्षेप स्वीकार नहीं करेंगे चाहे अमेरिका के राष्ट्रपति हों या फिर कोई, मोदी जी ने साफ कहा है कि कश्मीर हमारा आंतरिक मुद्दा है, हम हस्तक्षेप स्वीकार नहीं करेंगे. 

अमित शाह ने कहा- जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 चला गया, खून की नदियां तो क्या एक कतरा भी नहीं गिरा

Maharashtra Assembly Election: अमित शाह ने बुलढाणा में चुनावी रैली को संबोधित किया है

नई दिल्ली:

गृहमंत्री अमित शाह ने महाराष्ट्र के बुलढाणा में एक रैली को संबोधित करते हुए जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर कांग्रेस को एक बार फिर घेरा है. अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 चला गया है और खून की नदियां तो क्या खून की एक कतरा भी कश्मीर की धरती पर नहीं गिरा है. आतंकवाद के कारण 40 हजार से ज्यादा लोग मारे गए इसके बावजूद भी वोट बैंक को संभालने के लिए कांग्रेस और एनसीपी 370 को हटाना नहीं चाहती थी.  अमित शाह ने मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाने के साथ-साथ कांग्रेस और एनसीपी पर ज़ोरदार हमला बोला और कहा कि ये परिवार के लिए चलने वाली पार्टियां हैं जबकि बीजेपी देश के लिए चलने वाली पार्टी है. इसके साथ ही कांग्रेस के ओवरसीज़ अध्यक्ष कमल धालीवाल के यूके के लेबर पार्टी के नेता जे. कॉर्बी से मिलने पर भी सवाल उठाए.  जे. कॉर्बी  ने कुछ दिन पहले ही कहा था कि जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य नहीं है. अमित शाह ने कहा कि वह राहुल  गांधी से पूछना चाहते हैं कि उनकी पार्टी देश से जुड़े मुद्दों पर विदेशी नेताओं से चर्चा कर क्या करना चाहती है.

महाराष्ट्र चुनाव में अनुच्छेद 370 के मुद्दे को लेकर पवार और शाह के बीच वाकयुद्ध

अमित शाह ने कहा कि हमारा शुरू से साफ रुख रहा है कि कश्मीर के मुद्दे पर हम किसी दूसरे देश का हस्तक्षेप स्वीकार नहीं करेंगे चाहे अमेरिका के राष्ट्रपति हों या फिर कोई, मोदी जी ने साफ कहा है कि कश्मीर हमारा आंतरिक मुद्दा है, हम हस्तक्षेप स्वीकार नहीं करेंगे. 

शिवसेना को झटका : विधानसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे से नाराज़ 26 पार्षदों, 300 कार्यकर्ताओं का इस्तीफा

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार इस समय चरम पर हैं. राज्य में 21 अक्टूबर को मतदान होगा और नतीजे 24 अक्टूबर को आएंगे. यहां पर मुख्य मुकाबला बीजेपी-शिवसेना गठबंधन और कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन के बीच है. जैसा कि पहले ही माना जा रहा था कि हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी अनुच्छेद 370 के मुद्दे को जरूर भुनाएगी और अभी तक के चुनाव प्रचार से यह साबित हुआ है. 

 
 

इनपुट : ANI

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com