NDTV Khabar

सनातन संस्था से जुड़े वैभव राउत सहित तीन गिरफ्तार, छापे में 20 देसी बम बरामद

मुंबई से सटे नालासोपारा में महाराष्ट्र ATS ने सनातन संस्था से जुड़े एक पदाधिकारी वैभव राउत को गिरफ़्तार कर लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सनातन संस्था से जुड़े वैभव राउत सहित तीन गिरफ्तार, छापे में 20 देसी बम बरामद

सनातन संस्था का पदाधिकारी वैभव राउत (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. बचाव पक्ष ने कहा- वैभव को पहले से ही पकड़ कर रखा था
  2. एटीएस बाद में वैभव को नालासोपारा के उसके घर में ले गई
  3. कोर्ट ने तीनों आरोपियों को 18 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेजा
मुंबई: मुंबई से सटे नालासोपारा में महाराष्ट्र ATS ने सनातन संस्था से जुड़े एक पदाधिकारी वैभव राउत को गिरफ़्तार कर लिया है. ATS सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक वैभव राउत के घर से 20 देसी बम और दो जिलेटिन स्टिक मिली हैं. एटीएस से पूछताछ के बाद दो अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है. कोर्ट ने तीनों आरोपियों को 18 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है.

वैभव के घर से थोड़ी ही दूरी पर मौजूद उनकी दुकान से बम बनाने का सामान मिलने की भी ख़बर है जिसमें गन पावडर और डेटोनेटर भी बताया जा रहा है. एटीएस ने इस मामले में पूछताछ के बाद दो अन्य आरोपियों को पकड़ा लिया है. एटीएस पता लगा रही है कि आरोपियों के पास बम और बाकी सामान कहां से आए? पूरी साजिश का मास्टरमाइंड कौन है? और आरोपियों को ट्रेनिंग कहां से मिली?

सुबह के नास्ते ने दिया सुरक्षा बलों को नक्सलियों का सुराग, मारे गए 39 नक्सली

वैभव को कोर्ट में पेश किया गया. वहां बचाव पक्ष का कहना था कि वैभव को पहले से ही पकड़ कर रखा था. बाद में उसे नालासोपारा घर में ले गए. परसों रात को 3 बजे घर से ले गए थे. अब इतनी देर के बाद पेश कर रहे हैं, जबकि 24 घंटे के अंदर कोर्ट में पेश करना चाहिए था. एटीएस ने अवैध गिरफ्तारी की है इसलिए न्यायिक हिरासत में भेजा जाए.

आरोपियों ने एटीएस पर मारपीट का आरोप भी लगाया है. गिरफ्तार आरोपी वैभव राउत, शरद कलस्कर, सुधन्वा गोंधलेकर ने कहा उन्हें ATS अधिकारियों ने कस्टडी में मारा.तीनों आरोपियों को 18 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

 ATS सूत्रों के मुताबिक पिछले कुछ दिनों से वह लगातार वैभव को ट्रैक कर रहे थे. इधर हिंदू जनजागृति समिति ने वैभव राउत की गिरफ़्तारी को मालेगांव पार्ट-2 बताया है. मतलब उन्हें फंसाने का आरोप लगाया है.

वैभव राउत के वकील संजीव पुनालेकर का कहना है कि एटीएस ने अभी तक परिवार को कोई सूचना नही दी है और न ही कोई पंचनामा नहीं किया गया. कानूनी सहायता मिलना उसका हक है. लेकिन उसे वंचित किया जा रहा है. वैभव गो वंश रक्षा के लिए काम करते हैं.  हिन्दू जनजागृति समिति के सम्मेलन में शामिल होता था. सनातन में कोई पावती नहीं मिलती लेकिन इतना जरूर है कि वो सनातन में किसी पद पर नहीं था. ये फसाने की साजिश है, मालेगांव पार्ट 2 है.

टिप्पणियां
महाराष्ट्र : खुदकुशी करने वाले 208 किसानों के परिवारों को कांग्रेस विधायक पाटिल ने गोद लिया

वहीं, हिंदू जनजागृती समिति के राज्य संगठक सुनील घनवट के मुताबिक, वैभव राऊत एक सक्रिय गौ रक्षक हैं और " हिंदु गोवंश रक्षा समिती’ में सक्रिय हैं. सभी हिन्दू संगठनों को एकत्रित करने और आंदोलनों में शामिल होते रहे हैं. 
लेकिन पिछले कुछ महीनो से वो सक्रिय नहीं थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement