NDTV Khabar

गाड़ी से गुल हुई लाल बत्ती तो महाराष्‍ट्र के मंत्री को भरना पड़ा टोल

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गाड़ी से गुल हुई लाल बत्ती तो महाराष्‍ट्र के मंत्री को भरना पड़ा टोल

महाराष्‍ट्र के सहकारिता मंत्री सुभाष देशमुख (फाइल फोटो)

मुंबई: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ़ से लाल बत्ती अर्थात वीआईपी कल्चर को मनाही किए जाने के बाद अनूठा अनुभव महाराष्ट्र के सहकारिता मंत्री को मिला है. मंत्रीयों का सड़क पर अब वो रुतबा नहीं रहा जो इससे पहले हुआ करता था. सूत्र बता रहे हैं कि महाराष्ट्र के सहकारिता मंत्री हाल ही में बीजेपी की राज्य कार्यकारिणी की बैठक खत्म कर पुणे से मुंबई आ रहे थे. इस सफ़र के दौरान जब वे देश के पहले एक्सप्रेस वे पर से गुजरे तो उनका सामना टोल बूथ से हुआ. पुणे से मुंबई आते हुए पहला टोल खालापुर का होता है जहां चार पहिया गाड़ी के लिए करीब 200 रुपये टोल वसूला जाता है.

टिप्पणियां
मंत्रीजी की गाड़ी जैसे ही टोल बूथ पहुंची, उन्हें रोका गया. मंत्रीजी के पीए ने टोल बूथ ऑपरेटर को बताने की कोशिश की कि मंत्रीजी गाड़ी में सवार हैं. लेकिन, उनकी एक न सुनी गई. गाड़ी पर बत्ती का न होना इसकी वजह बना. ऐसे में मंत्रीजी टोल भरकर मुम्बई की तरफ़ चल दिए. हालांकि मंत्री के काफिले की बाकी गाड़ियों में सवार लोगों ने टोल नहीं भरा. वे अपनी पहचान बताने में कामयाब रहे.

गौरतलब है कि बीजेपी ने सत्ता में आने से पहले महाराष्ट्र को टोल फ्री बनाने का वायदा किया था. पूरे मामले पर जब NDTV इंडिया ने मंत्री सुभाष देशमुख से संपर्क किया तो उन्होंने घटना को स्वीकार करते हुए कहा कि कहां विवाद बढ़ाते और अपना परिचय देते? इसलिए मैंने टोल भरकर आगे निकलना बेहतर समझा. उनसे जब पूछा गया कि क्या बाकी मंत्रियों को भी आप का अनुकरण करना चाहिए तो जोरदार ठहाका लगाते हुए देशमुख बोले, नो कमेंट्स.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
 Share
(यह भी पढ़ें)... ब्‍लॉग : अनिल मानहानि अंबानी की जय हो...

Advertisement