NDTV Khabar

महाराष्ट्र के मुख्य सूचना आयुक्त की औरंगाबाद में दलित कार्यकर्ताओं ने की पिटाई

2.3K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
औरंगाबाद: महाराष्ट्र के मुख्य सूचना आयुक्त रत्नाकर गायकवाड़ की दलित कार्यकर्ताओं ने पिटाई कर दी. यह वारदात औरंगाबाद सर्किट हाउस पर हुई, जहां गायकवाड़ अपनी पत्नी के साथ सरकारी दौरे पर थे. पिटाई के कारण गायकवाड़ को अंदरूनी चोट आने की आशंका जताई जा रही है.

रत्नाकर गायकवाड़ मुंबई के अंबेडकर भवन के पुनर्निर्माण के काम की निगरानी कर रहे थे. इस भवन में डॉ बाबासाहब आंबेडकर की प्रिंटिंग प्रेस स्थित है. इस इमारत के पुनर्निर्माण को लेकर बाबासाहब के वंशज और गायकवाड़ में मतभेद जारी है. भारिप-बहुजन महासंघ राजनीतिक दल है, जिसके मुखिया पूर्व सांसद प्रकाश आंबेडकर हैं. इसी के साथ रिपब्लिकन सेना के आनंदराज आंबेडकर मुख्य तौर पर गायकवाड़ का विरोध करने में मुखर थे.

सरकारी दौरे पर आए गायकवाड़ अपना दौरा खत्म कर एयरपोर्ट की तरफ़ जाने के लिए निकले थे, तभी भारिप-बहुजन महासंघ के कार्यकर्ता पहुंचे और उन्होंने गायकवाड़ पर धावा बोल दिया. गायकवाड़ ने बचने की काफ़ी कोशिश की, लेकिन वे असफ़ल रहे. जमीन पर गिर जाने की वजह से उन्हें अंदरूनी चोट आने की आशंका जताई जा रही है. इस हमले की अगुवाई पूर्व पार्षद अमित भुजबल कर रहे थे. पुलिस ने उनके साथ 9 अन्य कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है.

अमित भुजबल का दावा है कि अंबेडकर भवन के पुनर्निर्माण के नाम पर इसे ध्वस्त करने की गायकवाड़ की कोशिश से वे खफ़ा हैं. इसके लिए वे गायकवाड़ को सबक सिखाना चाहते थे. इस दौरान NDTV इंडिया ने जब पूर्व सांसद प्रकाश आंबेडकर से उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने इस मामले पर कोई भी प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement