NDTV Khabar

महाराष्ट्र की सीएम देवेंद्र फड़नवीस नहीं जाएंगे केंद्र, रक्षा मंत्री बनने की संभावनाओं को किया ख़ारिज

3 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र की सीएम देवेंद्र फड़नवीस नहीं जाएंगे केंद्र, रक्षा मंत्री बनने की संभावनाओं को किया ख़ारिज

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का कहना है कि वे राज्य में ही रहेंगे और महाराष्ट्र की जनता की सेवा करेंगे (फाइल फोटो)

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने उन संभावनाओं को खारिज कर दिया जिनमें उन्हें केंद्रीय मंत्री नियुक्त किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि वह राज्य में ही रहेंगे और महाराष्ट्र की जनता की सेवा करेंगे.

इंडिया टुडे कॉनक्लेव 2017 में जब फड़नवीस से केंद्र में रक्षा मंत्री बनाए जाने की अटकलों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘अगर आपका संस्थान पहली बार दिल्ली से बाहर, मुंबई में राष्ट्रीय आयोजन कर सकता है तो मुझे दिल्ली जाने की जरूरत नहीं है. मैं यहीं रहने जा रहा हूं.’

इससे पहले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी फड़नवीस को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की ख़बरों से इनकार किया. गडकरी ने कहा था, ‘मीडिया कयास लगाता है और फिर विभिन्न चीजों को लिखने का लुत्फ उठाता है. हालांकि दिल्ली में इस पर कोई फैसला नहीं लिया.'  देवेंद्र फड़नवीस ने कहा कि केंद्र में बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार के नियंत्रण में चीजे हैं और वह नौकरशाही को भी सही तरीके से संभाल रही है जिससे राज्य मशीनरी की दक्षता को बढ़ाया जा सके.

उन्होंने कहा, ‘उदाहरण के लिए, नवी मुंबई हवाईअड्डे का क्लीयरेंस दस सालों से लंबित था. सिर्फ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमें आठ विभिन्न विभागों की मंजूरी दिलवा दी.’ उन्होंने कहा कि अभी नौकरशाही में भी काफी सकारात्मकता है.

राज्य सरकार को सहयोगी शिवसेना से खतरे की बात को खारिज करते हुए उन्होंने उसके मुखपत्र ‘सामना’ में आलोचनात्मक संपादकीय के बारे में पूछे जाने पर फड़नवीस ने कहा कि वे इन्हें नहीं पढ़ते. शिवसेना के ‘विपक्षी दल’ की तरह काम करने के बारे में उन्होंने कहा, ‘मैं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से प्रेरणा लेता हूं. अगर वे केंद्र में 22 क्षेत्रीय दलों वाली गठबंधन सरकार को सफलतापूर्वक चला सकते हैं, तो मैं आराम से महाराष्ट्र में एक सहयोगी को संभाल सकता हूं.’

 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement