आरे मेट्रो कारशेड प्रदर्शनकारियों पर से सभी केस होंगे वापस, CM उद्धव ठाकरे का एलान, वनभूमि भी घोषित

सीएम ने कहा कि हम सरकारी खजाने का एक भी पैसा बर्बाद होने नहीं देंगे. उन्होंने कहा कि वो आदित्य ठाकरे, अजित पवार, बालासाहब थोराट, एकनाथ शिंदे सुनीव केदार और मेट्रो के अधिकारियों को इसके लिए धन्यवाद देते हैं.

आरे मेट्रो कारशेड प्रदर्शनकारियों पर से सभी केस होंगे वापस, CM उद्धव ठाकरे का एलान, वनभूमि भी घोषित

मेट्रो कारशेड कंजूमार्ग पर शिफ्ट किया जाएगा: उद्धव ठाकरे

मुंबई:

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackrey) ने आरे मेट्रो कारशेड के खिलाफ प्रदर्शन करने वाली सभी लोगों पर से केस हटाने का एलान किया है. इसके साथ ही सीएम ने आरे की 800 एकड़ जमीन को वन भूमि भी घोषित किया है.सीएम ने कहा कि हमने शिव सेना के रूप में पहले भी इस कारशेड का विरोध किया था. सीएम ने कहा कि अब मेट्रो कारशेड कंजूमार्ग पर शिफ्ट किया जाएगा. आरे में कोई कारशेड नहीं होगा. उन्होंने बताया कि कंजूमार्ग सरकारी जमीन है, इसलिए वहां कारशेड ट्रांसफर करने से कोई अतिरिक्त कॉस्ट नहीं आएगा.

सीएम ने कहा कि हम सरकारी खजाने का एक भी पैसा बर्बाद होने नहीं देंगे. उन्होंने कहा कि वो आदित्य ठाकरे, अजित पवार, बालासाहब थोराट, एकनाथ शिंदे सुनील केदार और मेट्रो के अधिकारियों को इसके लिए धन्यवाद देते हैं. उन्होंने कहा कि अब कारशेड को लेकर हर तरह की अनिश्चितता खत्म हो गई है.

किसानों के मुद्दे पर ठाकरे ने कहा कि उनकी सरकार ने शुरुआत में 29.5 लाख किसानों का कर्ज माफ किया है. जब उनसे किसान बिल पर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अभी भी वे लोग किसान बिल पर मंथन कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर ये बिल किसानों के लिए यह फायदेमंद नहीं होगा तो हम इसे स्वीकार नहीं करेंगे लेकिन अगर यह अच्छा है, तो हम स्वीकार करेंगे. उन्होंने कहा कि इस बारे में हम कृषि संगठनों और विशेषज्ञों से बात कर रहे हैं और उसके बारे में बाद में बात करेंगे.

Newsbeep

कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन के बाद से बंद पड़े जिम के बारे में सीएम ने कहा कि वो जिम मालिकों से बात कर रहे हैं कि कैसे जिम को शुरू किया जाय? उन्होंने कहा कि ये कोरोना से उपजी परिस्थितियों से जुड़ा हुआ मामला है, इसलिए इस पर संजीदगी से सोचना होगा. ठाकरे ने कहा कि विदेशों में, कुछ स्थानों पर फिर से लॉकडाउन किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा,"काश यहां ऐसा नहीं हो.. मैं अब ऐसा नहीं करना चाहता."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि ये लोगों को सोचना होगा कि उन्हें लॉकडाउन चाहिए या मास्क. सीएम ने कहा, "हम दोबारा लॉकडाउन लागू करना नहीं चाहते हैं. मुझे पता है आप सभी लोग हम पर भरोसा करते हैं." उन्होंने कहा, "सभी धर्मों ने हमारे फैसलों को स्वीकार किया और इसीलिए हम धार्मिक स्थलों पर बहुत धीमी गति से आगे बढ़ रहे हैं." सीएम ने लोगों से अपील की कि लोग लापरवाह न बनें और संक्रमण को हल्के में न लें. सभी लोगों को मास्क पहनने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि सभी सतर्क और सावधान रहें.