NDTV Khabar

महाराष्ट्र : डॉक्टरी जांच के लिए अस्पतालों के चक्कर लगाती रही रेप की शिकार मूक-बधिर महिला

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र : डॉक्टरी जांच के लिए अस्पतालों के चक्कर लगाती रही रेप की शिकार मूक-बधिर महिला

प्रतीकात्मक तस्वीर

गढ़चिरौली (महाराष्ट्र):

गढ़चिरौली जिले के सिरोंचा तहसील में बमनी गांव में कुछ दिनों पहले कथित रूप से बलात्कार की शिकार एक मूक-बधिर महिला का पिछले छह दिनों में डॉक्टरी परीक्षण केवल इसलिए नहीं किया जा सका, क्योंकि सरकारी अस्पताल में स्त्री रोग विशेषज्ञ 'उपलब्ध' नहीं थी।

घर के बाहर सोने के दौरान महिला पर हुआ हमला
पुलिस ने कहा कि बलात्कार की यह घटना 21 मई की रात उस समय हुई जब यह शादीशुदा महिला गांव में अपने घर के बाहर अपने तीन बच्चों के साथ सो रही थी। बमनी पुलिस थाने के उपनिरीक्षक मंगेश भोनगडे ने कहा, 'घटना के समय उसका पति घर से दूर था। हालांकि, घर आने पर उस महिला ने हाव-भाव से पूरी घटना की जानकारी अपने पति को दी, जिसके बाद अगले दिन बमनी पुलिस थाने पर एक शिकायत दर्ज कराई गई।' पुलिस ने मामला दर्ज कर एक महिला पुलिसकर्मी के संरक्षण में उस महिला को डॉक्टरी परीक्षण के लिए अहेरी के उप जिला अस्पताल भेजा।

अस्पतालों के चक्कर लगाती रही पीड़िता
भोनगडे ने कहा, 'हालांकि, अहेरी अस्पताल के डॉक्टरों ने यह कहते हुए उसका परीक्षण करने से साफ मना कर दिया कि यहां कोई स्त्री रोग विशेषज्ञ उपलब्ध नहीं है। उन्होंने महिला के साथ गई महिला पुलिसकर्मी को उसे गढ़चिरौली अस्पताल ले जाने को कहा। हालांकि जब पीड़िता को वहां ले जाया गया, तो उन्हें बताया गया कि स्त्री रोग विशेषज्ञ छुट्टी पर है।' उन्होंने पुलिस को उस महिला को पास के चंद्रपुर जिले में ले जाकर वहां डॉक्टरी परीक्षण कराने को कहा। हालांकि वहां भी डाक्टरों ने यह कहते हुए परीक्षण करने से मना किया कि यह मामला उनके क्षेत्र में नहीं हुआ है और उन्होंने वापस गढ़चिरौली ले जाने को कहा।


आखिरकार 27 मई को हुई जांच
पुलिस अधिकारी ने कहा, 'उस महिला को फिर गढ़चिरौली अस्पताल ले जाया गया और आखिरकार 27 मई को एक स्त्री रोग विशेषज्ञ द्वारा उसका परीक्षण किया गया। उस स्त्री रोग विशेषज्ञ को खासतौर पर पास के कुरखेड़ा से बुलाया गया था।' अधिकारी का दावा है कि उन्होंने इन सभी तीनों अस्पतालों के डॉक्टरों से व्यक्तिगत रूप से अनुरोध किया था, लेकिन 27 मई तक डॉक्टरी जांच की कोई व्यवस्था नहीं की गई। 'उस महिला को आगे की जांच के लिए 29 मई तक सामान्य अस्पताल में रखा गया।'

टिप्पणियां

बलात्कार का आरोपी फरार
संपर्क किए जाने पर गढ़चिरौली के पुलिस अधीक्षक संदीप पाटिल ने कहा कि इसकी जांच की जाएगी और (बलात्कार पीड़िता की डॉक्टरी जांच में विलंब) दोषी के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। इस बीच पुलिस ने कहा कि बलात्कार के इस मामले में आरोपी उसी गांव का रहने वाला है और वह भाग निकला है और उसके आंध्र प्रदेश में छिपे होने का संदेह है। भोनगड़े ने कहा कि बलात्कार के इस मामले में आरोपी को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement