NDTV Khabar

महाराष्ट्र: बुलढाना में बच्‍ची से रेप मामले में चार और आरोपी गिरफ्तार, एक और पीड़िता सामने आई

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र: बुलढाना में बच्‍ची से रेप मामले में चार और आरोपी गिरफ्तार, एक और पीड़िता सामने आई

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर...

खास बातें

  1. शनिवार शाम एक और बच्ची ने बलात्कार की एफआईआर दर्ज करवाई.
  2. FIR में बताया गया,आरोपी ने दूसरी बच्ची के साथ भी उसी दौरान बलात्कार किया.
  3. मामले में अब तक 15 लोगों को गिरफ़्तार किया जा चुका है.
मुंबई:

महाराष्ट्र के बुलढाना में 10 साल की बच्ची के साथ उसके स्कूल के कर्मचारी द्वारा किए गए बलात्कार मामले में शनिवार को चार और आरोपियों को गिरफ़्तार किया गया. अब तक 15 लोगों को गिरफ़्तार किया जा चुका है. मामले में शनिवार शाम एक और बच्ची ने बलात्कार की एफआईआर दर्ज करवाई है. इस एफआईआर में भी मुख्य आरोपी वही है जोकि पहली एफआईआर में है और मामले को दबाने का प्रयास करने वाले सह-आरोपी भी वही हैं.

गांववालों का कहना है कि उसी स्कूल में पढ़ने वाली कई और बच्चियां भी ऐसी ही वारदात का शिकार हो सकती हैं, लेकिन पीडि़ता बेहद डरी हुई हैं, इसलिए खुलकर सामने नहीं आ रही हैं. पुलिस इन बच्चियों के बयान भी दर्ज कर रही है.

इस मामले की दूसरी एफआईआर में बताया गया है कि आरोपी ने इस दूसरी बच्ची के साथ भी उसी दौरान बलात्कार किया, जिस दौरान पहली पीड़िता के साथ किया था. उसने दूसरी बच्ची से भी चाकू की नोंक पर बलात्कार किया और किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी.


मामले की पहली पीड़िता के परिवारवालों ने एनडीटीवी इंडिया को बताया कि "बच्ची जब इस बार दिवाली की छुट्टियों में घर आई तो बिलकुल सहमी और डरी हुई थी. उसने दिवाली भी नहीं मनाई. उसने बताया कि उसे पेट में दर्द हो रहा है. इसके बाद हमने जब उससे बात की तो उसने पूरी बात बताई. उसने बताया कि पिछले दो महीने से चाकू की नोंक पर आरोपी ने उसका बलात्कार किया. किसी को बता देने पर जान से मार देने की धमकी भी देता रहा. बच्ची ने हेडमास्टर से शिकायत की थी, लेकिन उसने भी आरोपी का साथ दिया. स्कूल प्रशासन ने कोई एक्शन नहीं लिया. इसके बाद हमने पुलिस में जाकर शिकायत दर्ज की."

इस मामले में शनिवार को चार और आरोपियों को गिरफ्तार किया गया. शुक्रवार रात को पीड़िता की मेडिकल जांच कराई गई, जिसकी रिपोर्ट आनी अभी बाकी है.

एसआईटी चीफ़ आरती सिंह ने कहा कि "अब तक कुल 15 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. दो आरोपी अभी फरार हैं"

टिप्पणियां

जिस स्कूल में पीड़िता पढ़ती थी उसकी  हालत काफ़ी ख़राब बताई जा रही है. महाराष्ट्र महिला आयोग की अध्यक्ष विजया राहाटकर ने शनिवार को स्कूल का दौरा किया और कहा कि स्कूल बच्चियों के रहने लायक नहीं है. स्कूल में सुरक्षा के कोई इंतज़ाम नहीं.

शुक्रवार को गिरफ़्तार हुए आरोपियों को 10 नवंबर तक पुलिस हिरासत में भेजा गया है और शनिवार को गिरफ़्तार हुए आरोपियों को 10 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया है.
 
सरकार के मुताबिक, एसआईटी के गठन से लेकर पीड़िता को आर्थिक मदद और काउंसलिंग, हर उपयुक्त कदम उठाया जा रहा है. लेकिन इलाके के लोगों में घटना को लेकर भारी गुस्सा है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Bigg Boss 13: बिग बॉस में फिर छिड़ी जंग, आसिम रियाज ने सिद्धार्थ को मारा धक्का तो एक्टर ने खोया आपा- देखें Video

Advertisement