Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

कांग्रेस-NCP और शिवसेना ने सरकार बनाने का दावा किया पेश, चिट्ठी पर शरद पवार के 54 में से केवल 51 MLAs के दस्तख्त

तीनों दलों ने पत्र में लिखा है कि विश्वास मत में फडणवीस के बहुमत साबित करने में असफल होने के बाद सरकार गठन के शिवसेना के दावे पर विचार करना चाहिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस-NCP और शिवसेना ने सरकार बनाने का दावा किया पेश, चिट्ठी पर शरद पवार के 54 में से केवल 51 MLAs के दस्तख्त

Shivsena, NCP और कांग्रेस ने राज्यपाल को लिखा पत्र

खास बातें

  1. महाराष्ट्र में जारी है सियासी घमासान
  2. राज्यपाल को सौंपा विधायकों के समर्थन का खत
  3. एनसीपी के तीन विधायकों के हस्ताक्षर नहीं
मुंबई:

एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना ने सोमवार को महाराष्ट्र में 162 विधायकों के हस्ताक्षर वाली चिट्ठी राज्यपाल को सौंपते हुए सरकार बनाने का दावा पेश किया है. लेकिन यहां गौर करने वाली बात यह है कि शरद पवार की पार्टी एनसीपी के 54 में से केवल 51 विधायकों के ही हस्ताक्षर इस चिट्ठी पर हैं. तीनों पार्टियों ने दावा किया है कि उनके पास बहुमत साबित करने का आंकड़ा है. शिवसेना के 63 विधायकों (निर्दलीय भी शामिल), कांग्रेस ने 44 और एनसीपी ने 51 विधायकों के हस्ताक्षर हैं. समाजवादी पार्टी ने इनके साथ हाथ मिलाया है और अपने दो विधायकों के हस्ताक्षर वाली चिट्ठी दी है. 

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के पास भेजे गए एक पत्र में तीनों पार्टियों ने दावा किया है कि राज्य में सरकार गठन के लिए आवश्यक आंकड़ा उनके पास है. पत्र पर शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के विधायक दल के नेताओं एकनाथ शिंदे, जयंत पाटिल और बालासाहेब थोराट के हस्ताक्षर हैं. तीन दलों के चुनाव पश्चात बने गठबंधन 'महा विकास अघाड़ी' ने दावा किया कि उनके पास बहुमत है जबकि हाल में शपथ ले चुके मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के पास सरकार गठन के लिए विधायकों का आवश्यक आंकड़ा नहीं है.

महाराष्ट्र में 'शह और पावर' का गेम चरम पर : अजित पावर के लिए अब शिवसेना और NCP में 50-50?


तीनों दलों ने पत्र में लिखा है, "विश्वास मत में फडणवीस के बहुमत साबित करने में असफल होने के बाद सरकार गठन के शिवसेना के दावे पर विचार करना चाहिए." उन्होंने कहा, "हमने शिवसेना के दावे का समर्थन कर रहे राकांपा और कांग्रेस के विधायकों के नाम की सूची संलग्न की है. इसके अलावा कई छोटे दलों और निर्दलीय विधायकों की सूची भी है जिन्होंने हमें समर्थन दिया है. सरकार गठन के लिए हमें तत्काल बुलाया जाना चाहिए."

शिवसेना ने BJP पर साधा निशाना- जिसने 25 साल पुराने मित्र को छोड़ दिया वह अजीत पवार का...

टिप्पणियां

गौरतलब है कि मुंबई में शनिवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राजभवन में सुबह आठ बजे भाजपा के देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री और राकांपा के अजीत पवार को उप मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलवाई थी. 

VIDEO: आज की बहस के बाद सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... अक्षय कुमार ने कोरोनावायरस से जंग के लिए दान की सबसे बड़ी रकम, तो ट्विंकल खन्ना का यूं आया रिएक्शन...

Advertisement