NDTV Khabar

महाराष्ट्र : नालासोपारा में ATS के खिलाफ निकली जनआक्रोश रैली

वैभव राऊत के खिलाफ साजिश का आरोप, गिरफ्तार आरोपियों से हथियारों का मिलना जारी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र : नालासोपारा में ATS के खिलाफ निकली जनआक्रोश रैली

वैभव रऊत और उसका साथी.

खास बातें

  1. रैली में भारत माता की जय और वंदेमातरम के नारे लगे
  2. 15 अगस्त को 4 एयर पिस्तौल के साथ अन्य सामान जब्त
  3. आरोपी वैभव राऊत की इनोवा कार भी जब्त की गई
मुंबई: नालासोपारा और पुणे से गिरफ्तार आरोपियों के पास से ATS जहां लगातार अवैध हथियारों के मिलने का दावा कर रही है. वहीं दूसरी तरफ नालासोपारा में स्थानीय लोगों ने बड़ी जनआक्रोश रैली निकालकर ATS पर वैभव राऊत को फंसाने क आरोप लगाया.

महाराष्ट्र एटीएस जिसे आतंकी साजिश का आरोपी बता रही है, इलाके के लोग उसे मासूम बता रहे हैं.  नालासोपारा से गिरफ्तार गौरक्षक वैभव राऊत के समर्थन में स्थानीय जनता ने 17 अगस्त को विशाल रैली निकाली. जनआक्रोश नाम से निकली इस रैली में भारत माता की जय और वंदेमातरम के नारे लगे तो ATS पर वैभव राऊत को फंसाने के आरोप भी लगा. लोगों का आरोप है कि ATS ने वैभव के घर हथियार प्लांट कर फर्जी बरामदगी दिखाई.

स्थानीय निवासी दीपेश पाटिल ने बताया कि गांव के पंचों ने पूछा कि क्या कर रहे हो तब ATS ने बोला पंचनामा होगा तब समझ जाएंगे. लेकिन सुबह 7 बजे बिना पंचनामा किए लेकर चले गए.

इसके पहले 15 अगस्त को महाराष्ट्र एटीएस की टीम ने आरोपी वैभव राऊत के घर पर एक बार फिर तलाशी ली थी. ATS अपने साथ वैभव राऊत को भी ले गई थी. परिवार का आरोप है कि कुछ देर की तलाशी के बाद ATS घर के पिछवाड़े रखी इनोवा कार लेकर चली गई.

वैभव राऊत की पत्नी लक्ष्मी ने कहा मेरी तो कुछ समझ में ही नहीं आया कि फिर से वे क्यों आए, बिना पेपर, बिना कुछ लिखित दिए वे गाड़ी क्यों ले गए.  

इधर ATS ने भी वैभव राऊत की कार जप्त करने की पुष्टि करते हुए और भी हथियार और सामान जप्त करने का दावा किया है. इसमें 4 एयर पिस्तौल, छर्रों से भरे माचिस की डिबिया के आकार के 20 डिब्बे, एक लैपटॉप और 2 सीपीयू के साथ नोटबुक, डायरी और कुछ खुले कागज़ भी हैं. ATS इसके पहले भी आरोपियों के पास से बड़ी संख्या में देशी बम ,देशी बंदूकें और हथियार बनाने के पुर्जे बरामद कर चुकी है.

टिप्पणियां
VIDEO : नालसोपारा में हथियारों का कारखाना

महाराष्ट्र ATS ने अभी तक ये तो बताया है कि आरोपी मुम्बई और पुणे में आतंकी साजिश को अंजाम देने वाले थे लेकिन कब और किस तरह की ये अभी साफ नहीं किया है और न ही ये बताया है कि इनके निशाने पर कौन थे. लेकिन जिस तरह से हथियारों का जखीरा मिल रहा है और हथियार बनाने के कारखाने की बात उभर कर सामने आई है वो बड़ी साजिश की तरफ इशारा कर रही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement