महाराष्ट्र के मंत्री चंद्रकांत पाटिल को पूरा भरोसा, BMC में शिवसेना-भाजपा साथ आएंगे

महाराष्ट्र के मंत्री चंद्रकांत पाटिल को पूरा भरोसा, BMC में शिवसेना-भाजपा साथ आएंगे

सीएम देवेंद्र फडणवीस और उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

मुंबई:

मुंबई में बीएमसी को लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है. चारों तरफ यही सवाल है कि बीएमसी में शिवसेना और बीजेपी साथ में आएंगे या नहीं. मुंबई के मेयर पद के लिए नामजदगी का पर्चा दाखिल करने के लिए अब एक दिन का ही समय शेष रहा गया है और भाजपा के एक वरिष्ठ नेता की मानें तो वह इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि भारत की इस सबसे धनी महानगरपालिका पर शासन के लिए उनकी पार्टी और शिवसेना एकसाथ आएंगे.

महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने कहा, मैं इस बात को लेकर 200 प्रतिशत आश्वस्त हूं कि बीएमसी में भाजपा और शिवसेना एकसाथ आएंगे. उन्होंने कहा, दोनों पार्टियों के लिए स्वीकार्य सूत्र पर काम किया जाएगा. पाटिल ने राज्य भाजपा की कोर समिति की अहम बैठक के पहले यह बयान दिया है. इस बैठक में पार्टी के मेयर चुनाव को लेकर रणनीति तैयार किये जाने की संभावना है.

Newsbeep

उन्होंने कहा कि राज्य की भाजपा नीत सरकार पर कोई खतरा नहीं है. मुंबई के अगले मेयर को लेकर संशय बरकरार है क्योंकि 227 सदस्यीय महानगरपालिका में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है. इस चुनाव में शिवसेना 84 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी, हालांकि भाजपा को 82 सीटें मिली और वह मामूली अंतर से ही शिवसेना से पिछड़ गई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इससे पूर्व शिवसेना नेता अनिल देसाई ने बुधवार को कहा कि उनकी पार्टी को मुंबई के मेयर पद के लिए आठ मार्च को होने वाले चुनाव में भाजपा के समर्थन की जरूरत नहीं है. देसाई ने यहां एक समाचार चैनल से बातचीत में कहा, ‘‘हमें भाजपा के समर्थन की जरूरत नहीं है.’’ शिवसेना पिछले सप्ताह हुए बीएमसी के चुनावों में 84 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी लेकिन वह 227 सदस्यीय निगम में 114 के बहुमत के आंकड़े से पीछे रह गई.महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के नेता बाला नंदगांवकर के बयान कि उनकी पार्टी को शिवसेना की मदद करते हुए खुशी होगी, के बारे में पूछे जाने पर देसाई ने कहा, ‘‘मनसे का समर्थन मांगने का अध्याय अब समाप्त हो चुका है.’’ शिवसेना ने नगर निगम चुनावों से पहले गठबंधन के मनसे के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था. नंदगांवकर ने बुधवार को पुणे में कहा कि मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे इस बारे में अंतिम निर्णय करेंगे कि शिवसेना को समर्थन दिया जाए या नहीं. मनसे से पहले शिवसेना में ही रहे नंदगांवकर ने कहा, ‘‘अगर मेयर शिवसेना का बनता है तो मुझे खुशी होगी. मेरी जड़ें शिवसेना में हैं.’’ (इनपुट्स भाषा से भी)