NDTV Khabar

BJP से अलग होने के बाद जब विधानसभा पहुंचे अजित पवार तो बहन सुप्रिया सुले ने ऐसे किया स्वागत

NCP नेता अजित पवार बुधवार को जैसे ही शपथ लेने विधानसभा पहुंचे तो NCP नेताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
BJP से अलग होने के बाद जब विधानसभा पहुंचे अजित पवार तो बहन सुप्रिया सुले ने ऐसे किया स्वागत

अजित पवार का सुप्रिया सुले ने किया स्वागत.

खास बातें

  1. अजित पवार का NCP नेताओं ने किया स्वागत
  2. सुप्रिया सुले ने गले लगकर वापसी की दी बधाई
  3. अजित पवार ने मंगलवार को किया था शरद पवार से मुलाकात
मुंबई:

महाराष्ट्र विधानसभा का विशेष सत्र बुधवार को सुबह आरंभ होने पर सभी की नजरें राकांपा नेता अजित पवार पवार पर टिकी हुई थीं जिन्होंने पार्टी से विद्रोह कर सरकार बनाने के लिए भाजपा को समर्थन देकर हैरान कर दिया था लेकिन मंगलवार को उन्होंने इस्तीफा भी दे दिया. अजित पवार ने जैसे ही बुधवार को सुबह विधान भवन के परिसर में प्रवेश किया तो उनकी चचेरी बहन और लोकसभा सांसद सुप्रिया सुले ने उन्हें गले लगाया. राकांपा प्रमुख शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले अपनी पार्टी के विधायकों का स्वागत करने के लिए विधान भवन के प्रवेश द्वार पर खड़ी थीं.

विधानभवन परिसर में संवाददाताओं से बात करते हुए अजित पवार ने कहा, 'मैं राकांपा में था और अब भी हूं. मैनें पार्टी कभी नहीं छोड़ी.' देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार को समर्थन देने के लिए अजित पवार के शनिवार को अपनी पार्टी से बगावत करने के बाद भावुक दिखी उनकी चचेरी बहन सुले ने अपने व्हाट्सएप स्टेटस में लिखा था कि पवार परिवार और पार्टी बंट गयी है.

विधानसभा के विशेष सत्र से पहले NDTV से बोले अजित पवार- NCP में ही था, एनसीपी में ही रहूंगा


उन्होंने अपने स्टेटस में लिखा था, 'आप जीवन में किस पर भरोसा करोगे. इतना ठगा हुआ कभी महसूस नहीं हुआ. उनका बचाव किया, उन्हें प्यार दिया. देखो बदले में क्या मिला मुझे.'

महाराष्ट्र में नाटकीय घटनाक्रम के तहत शनिवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राजभवन में भाजपा के देवेंद्र फड़णवीस को मुख्यमंत्री और राकांपा के अजित पवार को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी. पुणे की बारामती सीट से 1.65 लाख मतों के अंतर से विधानसभा चुनाव जीतने वाले राकांपा विधायक ने मंगलवार को उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद फडणवीस ने भी मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया और भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार गिर गई.

kk3p67ag

महाराष्ट्र में नव निर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाने के लिए 14वीं विधानसभा का विशेष सत्र बुधवार सुबह आरंभ हो गया. नव निर्वाचित सदस्य राज्य में चल रहे नाटकीय घटनाक्रमों के कारण विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के एक महीने बाद भी शपथ नहीं ले पाए थे. किसी भी राजनीतिक दल के सरकार न बना पाने के कारण राज्य में 12 नवंबर से 23 नवंबर तक राष्ट्रपति शासन लागू रहा. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को कोश्यारी से कार्यवाहक अध्यक्ष नियुक्त करने और यह सुनिश्चित करने को कहा था कि सदन के सभी निर्वाचित सदस्यों को बुधवार शाम पांच बजे तक शपथ दिला दी जाए.

देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफे के बाद पत्नी अमृता ने किया ट्वीट, पलट के आऊंगी...मौसम जरा बदलने दे
 

टिप्पणियां

VIDEO: Maharashtra: प्रोटेम स्पीकर कालिदास कोलंबकर दिलाएंगे विधायकों को शपथ


 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement