Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

NCP नेता जितेंद्र आव्हाड ने कहा, 'इंदिरा गांधी ने भी लोकतंत्र का गला घोंटा था, उनके खिलाफ भी बोलने से डरते थे, लेकिन...'

महाराष्ट्र में NCP, कांग्रेस और शिवसेना की गठबंधन सरकार के मंत्री जितेंद्र जितेंद्र आव्हाड ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने इंदिरा गांधी को लपेटे में ले लिया.

NCP नेता जितेंद्र आव्हाड ने कहा, 'इंदिरा गांधी ने भी लोकतंत्र का गला घोंटा था, उनके खिलाफ भी बोलने से डरते थे, लेकिन...'

जितेंद्र आव्हाड (फाइल फोटो)

खास बातें

  • इंदिरा गांधी ने भी लोकतंत्र का गला घोंट था- जितेंद्र आव्हाड
  • महाराष्ट्र सरकार में मंत्री हैं जितेंद्र आव्हाड
  • महाराष्ट्र में कांग्रेस, NCP और शिवसेना गठबंधन सहयोगी है
नई दिल्ली:

महाराष्ट्र में NCP, कांग्रेस और शिवसेना की गठबंधन सरकार के मंत्री जितेंद्र जितेंद्र आव्हाड ने इंदिरा गांधी को लेकर बयान दिया है. आव्हाड विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहते रहे हैं. इस बार उन्होंने अपने बयान से महाराष्ट्र में NCP की गठबंधन सहयोगी कांग्रेस को असहज कर दिया है. मोदी सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने इंदिरा गांधी को लपेटे में ले लिया. उन्होंने कहा "इंदिरा गांधी ने भी लोकतंत्र का गला घोंट था, उनके खिलाफ भी कोई भी बयान देने से डरता था. उस समय अहमदाबाद और पटना के छात्रों ने विरोध किया था, वहीं इतिहास इसबार महाराष्ट्र और देश में दोहराया जाएगा".

गौरतलब है कि इससे पहले नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश भर में चल रहे विरोध पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता जितेंद्र आव्हाड ने विवादित बयान दिया था. उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा था "मैं दिल्ली के तख्त से पूछना चाहता हूं कि अब तू मुझसे देशवासी होने का सबूत मांगेगा? तो सुन जब तेरा बाप सर झुकाकर अंग्रेजों के तलवे चाट रहा था तब मेरा बाप फांसी के तख्त को चूम कर इंकलाब जिंदाबाद का नारा लगा रहा था." 

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का बयान, कहा- सावरकर की प्रासंगिकता कभी खत्म नहीं होगी

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में कांग्रेस, शिवसेना और NCP की सरकार बनने के बाद से लगातार नेताओं की तरफ से आ रहे बयानों से सरकार को फजीहत का सामना करना पर रहा है. हाल ही में शिवसेना नेता संजय राउत ने पुणे में एक कार्यक्रम में कहा था कि कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी तब के मुंबई के डॉन करीम लाला से मिलने आती थीं. हालांकि मीडिया पर बयान आने के बाद संजय राउत ने सफाई दी थी और बाद मे उन्होंने अपना बयान वापस ले लिया था.

VIDEO: RSS ने CAA-NRC के पक्ष में शुरू की सबसे बड़ी मुहिम