Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

महाराष्ट्र के घटनाक्रम पर बोले अभिषेक मनु सिंघवी- वो जो कहते थे कि हम न होंगे जुदा,बेवफा हो गए देखते देखते

रातों-रात कुछ ऐसा हुआ कि एनसीपी नेता अजित पवार बीजेपी के साथ खड़े हो गए और सुबह उन्होंने राजभवन पहुंचकर डिप्टी सीएम पद की शपथ ले ली.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र के घटनाक्रम पर बोले अभिषेक मनु सिंघवी- वो जो कहते थे कि हम न होंगे जुदा,बेवफा हो गए देखते देखते

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र में जिस तरह से बीजेपी ने NCP के अजित पवार को तोड़कर सरकार बनाई है उसके बाद Congress-NCP और शिवसेना हैरान हैं. तीनों दलों के नेताओं ने इस पर अपने-अपने हिसाब से प्रतिक्रिया दी है. कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने इस पूरे घटनाक्रम के लिए हिंदी गाने की एक लाइन ट्विटर पर शेयर की है. जिसमें उन्होंने लिखा है,  'वो जो कहते थे कि हम न होंगे जुदा,बेवफा हो गए देखते देखते'. गौरतलब है कि महाराष्ट्र की राजनीति में शुक्रवार सब कुछ तय हो चुका था. कई दौर की बैठकों के बाद Congress-NCP और शिवसेना के बीच तय हो चुका था कि महाराष्ट्र के नए सीएम उद्धव ठाकरे होंगे और तीनों दल मिलकर शनिवार यानी आज सरकार बनाने का दावा पेश करने वाले थे. यहां तक कि किस नेता को क्या जिम्मेदारी दी जाएगी इस पर भी फैसला हो चुका था.  इसके मुताबिक शिवसेना का मुख्यमंत्री पूरे पांच साल के लिए बनेगा. दो डिप्टी सीएम कांग्रेस और एनसीपी के बनेंगे और दोनों पांच साल तक रहेंगे. शाम को एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने इसकी घोषणा कर दी कि शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.


लेकिन रातों-रात कुछ ऐसा हुआ कि एनसीपी नेता अजित पवार बीजेपी के साथ खड़े हो गए और सुबह उन्होंने राजभवन पहुंचकर डिप्टी सीएम पद की शपथ ले ली. आज सुबह  न्यूजरूम में भी कुछ माहौल ऐसा ही था सभी लोग तीनों दलों की बनने वाली सरकार पर चर्चा कर रहे थे तभी न्यूज एजेंसी ANI ने 8 बजे पहला ट्वीट किया कि देवेंद्र फडणवीस ने राजभवन पहुंचकर सीएम पद की शपथ लेने जा रहे हैं. तो पहली सबको ऐसा लगा कि यह गलत जानकारी दी गई है. लेकिन अचानक से टीवी न्यूज चैनलों में देवेंद्र फडणवीस के शपथ लेने की तस्वीरें आने लगीं. 

आपको बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव मे बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली हैं. बीजेपी और शिवसेना ने मिलकर बहुमत का 145 का आंकड़ा पार कर लिया था. लेकिन शिवसेना ने 50-50 फॉर्मूले की मांग रख दी जिसके मुताबिक ढाई-ढाई साल सरकार चलाने का मॉडल था. शिवसेना का कहना है कि बीजेपी के साथ समझौता इसी फॉर्मूले पर हुआ था लेकिन बीजेपी का दावा है कि ऐसा कोई समझौता नहीं हुआ. इसी लेकर मतभेद इतना बढ़ा कि दोनों पार्टियों की 30 साल पुरानी दोस्ती टूट गई.

अन्य बड़ी खबरें :

Maharashtra Politics पर आए मज़ेदार मीम्स, लोग बोले - सो रहा था मैं, सपने देख रहा था मैं...

'टूट गई पार्टी और परिवार...': NCP नेता सुप्रिया सुले ने WhatsApp पर लिखा ये स्टेटस, आखिर क्या है मायने?

टिप्पणियां

महाराष्ट्र के सियासी उलटफेर पर कुमार विश्वास का Tweet, बोले- अब शेरो-शायरी...


 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... मलाइका अरोड़ा ने पहना ऐसा गाउन, अपशब्द कहने लगीं फराह खान

Advertisement