सहयोगी दल JDS की कांग्रेस को सलाह- महाराष्ट्र में शिवसेना के बदले BJP का करें समर्थन, वजह भी बताई

कर्नाटक (Karnataka) के पूर्व मुख्यमंत्री और JDS अध्यक्ष एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) चाहते हैं कि कांग्रेस महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए शिवसेना के बदले भाजपा को समर्थन दे.

सहयोगी दल JDS की कांग्रेस को सलाह- महाराष्ट्र में शिवसेना के बदले BJP का करें समर्थन, वजह भी बताई

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी. (फाइल फोटो)

बेंगलुरु:

कर्नाटक (Karnataka) के पूर्व मुख्यमंत्री और JDS अध्यक्ष एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) चाहते हैं कि कांग्रेस महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए शिवसेना के बदले भाजपा को समर्थन दे. कुमारस्वामी के अनुसार शिवसेना एक कट्टर हिदुत्व वाली पार्टी है. कुमारस्वामी के मीडिया सलाहकार चंदन धोरे ने उनके (कुमारस्वामी) हवाले से कहा, 'कांग्रेस महाराष्ट्र में अगली सरकार के गठन में कट्टर हिंदुत्वावादी शिवसेना के बदले अपेक्षाकृत एक नरम हिंदुत्ववादी भाजपा को समर्थन दे तो बेहतर होगा, क्योंकि दोनों दक्षिणपंथी पार्टियां सिक्के के दो पहलू हैं.'

Maharashtra News: शिवसेना को BJP के साथ सरकार बनाने में कोई दिक्कत नहीं अगर...

कुमारस्वामी की टिप्पणी 21 अक्टूबर के महाराष्ट्र चुनाव के लगभग एक महीने बाद भी नई सरकार गठन को लेकर जारी गतिरोध पर मीडिया द्वारा पूछे गए एक सवाल के जवाब में आई है. चुनाव में भाजपा-शिवसेना गठबंधन ने जीत दर्ज की थी, लेकिन मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर दोनों दलों की राहें जुदा हो गईं. धोरे ने कहा, 'महाराष्ट्र में अगली सरकार के गठन में सांप्रदायिक शिवसेना के साथ धर्मनिरपेक्ष कांग्रेस और उसकी सहयोगी राकांपा द्वारा गठबंधन करने की चल रही कोशिशों पर उनसे उनकी राय पूछी गई, क्योंकि कांग्रेस ने मई 2018 में कर्नाटक में गठबंधन सरकार बनाने में उनकी पार्टी जद(एस) का समर्थन किया था.'

NCP प्रमुख ने ऐसा क्या कह दिया कि संजय राउत बोले- 'पवार का कहा समझने के लिए 100 बार जन्म लेना होगा'

कुमारस्वामी सोमवार को राज्य के उत्तरपश्चिम क्षेत्र में बेलगावी में थे, जहां वह अपनी पार्टी के उम्मीदवार के पक्ष में पांच दिसंबर के उपचुनाव के लिए प्रचार करने गए थे. कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों के लिए पांच दिसंबर को उपचुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे.

क्‍या NCP चीफ शरद पवार बनेंगे राष्‍ट्रपति? महाराष्‍ट्र में सरकार पर जारी सस्‍पेंस के बीच...

बता दें कि महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना ने गठबंधन के तहत चुनाव लड़ा था और उसी तरह चुनाव में कांग्रेस-राकांपा के बीच गठबंधन था. भाजपा ने 105 सीटों पर जीत दर्ज की, शिवसेना ने 56 सीटें जीती. जबकि राकांपा को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिलीं. लेकिन मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर भाजपा-शिवसेना का गठबंधन टूट गया, और अब वह कांग्रेस-राकांपा की मदद से सरकार बनाने की कोशिश में है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि महाराष्ट्र की 288 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी के पास 105, शिवसेना के पास 56 सीटें हैं, जबकि राकांपा (NCP) और कांग्रेस के पास क्रमश: 54 और 44 सीटें हैं. राज्य में सरकार बनाने को इच्छुक किसी भी दल या गठबंधन को विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए कम से कम 145 विधायकों के समर्थन की जरूरत होगी.

VIDEO: महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद का पहला टर्म शिवसेना को- सूत्र



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)