महाराष्ट्र में 4000 छात्रों ने बनाई ह्यूमन पेंटिंग, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में पाई जगह

गणतंत्र दिवस (Republic Day 2020) की पूर्व संध्या पर महाराष्ट्र (Maharashtra Human Painting) में एक अलग नजारा देखने को मिला. यहां पुणे में 4000 छात्रों ने 4 लाइव ह्यूमन पेंटिंग्स बनाईं.

महाराष्ट्र में 4000 छात्रों ने बनाई ह्यूमन पेंटिंग, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में पाई जगह

4000 छात्रों ने 4 लाइव ह्यूमन पेंटिंग्स बनाईं.

खास बातें

  • 4000 छात्रों ने बनाई ह्यूमन पेंटिंग
  • गिनीज बुक में दर्ज हुआ रिकॉर्ड
  • जील एजुकेशन सोसाइटी थी आयोजक
पुणे:

गणतंत्र दिवस (Republic Day 2020) की पूर्व संध्या पर महाराष्ट्र (Maharashtra Human Painting) में एक अलग नजारा देखने को मिला. यहां पुणे में 4000 छात्रों ने 4 लाइव ह्यूमन पेंटिंग्स बनाईं. पेंटिंग्स बनाने के लिए कार्ड बोर्ड का इस्तेमाल किया गया था. इन पेंटिंग्स को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guinness Book of World Records) में जगह मिली है. इस कार्यक्रम को जील एजुकेशन सोसाइटी की ओर से आयोजित किया गया था.

4000 छात्रों ने कार्ड बोर्ड की मदद से राष्ट्रीय ध्वज, छत्रपति शिवाजी महाराज, राजमाता जिजाऊ और तानाजी मालसुरे की पेंटिंग्स बनाईं. करीब 25 हजार वर्ग फीट क्षेत्रफल में इन पेंटिग्स को बनाया गया था. पोट्रेट बनाने के लिए छात्रों की 52 कॉलम और 78 लाइन्स बनाई गई थीं. इस इवेंट को रिकॉर्ड करने के लिए लंदन से गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड की टीम पुणे आई थी. इवेंट को सबसे बड़े ह्यूमन लाइव पोट्रेट के तौर पर रिकॉर्ड बुक में दर्ज किया गया है.

बताते चलें कि इन ह्यूमन पेंटिंग्स को बनाने की तैयारी करीब एक हफ्ते से की जा रही थी. ड्रोन की मदद से इन तस्वीरों को कैमरे में कैद किया गया. जील एजुकेशन सोसाइटी के संस्थापक एस.एम. कटकर ने इस बारे में बताया कि भारत की सांस्कृतिक और ऐतिहासिक विरासत दुनिया में सबसे खास है. हमने इन पेंटिंग्स के जरिए उस विरासत को जीवंत करने की कोशिश की है. महाराष्ट्र की कई समाजसेवी संस्थाओं और नेताओं ने छात्रों की सराहना की.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: 71वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देशवासियों को किया संबोधित