NDTV Khabar

अब महात्मा गांधी और अंबेडकर की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया

त्रिपुरा में लेनिन, पश्चिम बंगाल में श्यामा प्रसाद मुखर्जी और तमिलनाडु में पेरियार की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रतिमाएं तोड़े जाने की कड़ी निंदा की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अब महात्मा गांधी और अंबेडकर की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया

केरल के कन्नूर में महात्मा गांधी की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया

खास बातें

  1. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रतिमाएं तोड़े जाने की कड़ी निंदा की थी
  2. पिछले दो-तीन दिन से कई हस्तियों की प्रतिमाओं को नुकसान पहुंचाया गया
  3. मुखर्जी की आवक्ष मूर्ति तोड़ने में शामिल सभी सात लोग गिरफ्तार
नई दिल्ली: त्रिपुरा में लेनिन, पश्चिम बंगाल में श्यामा प्रसाद मुखर्जी और तमिलनाडु में पेरियार की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रतिमाएं तोड़े जाने की कड़ी निंदा की और ऐसा करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की चेतावनी दी. इसके बाद भी ऐसी घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. गुरुवार को केरल के कन्नूर में महात्मा गांधी की प्रतिमा को अज्ञात लोगों ने नुकसान पहुंचाया. वहीं तमिलनाडु के चेन्‍नई में बुधवार रात को अज्ञात लोगों ने अंबेडकर की प्रतिमा पर पेंट डाला दिया. 

लेनिन की मूर्ति तोड़ने के मामले में पुलिस कर रही है चार लोगों से पूछताछ 

पिछले दो तीन दिन से राजनीतिक हस्तियों और समाज सुधारकों की प्रतिमाओं को नुकसान पहुंचाये जाने को लेकर जारी राजनीतिक विवाद के बीच दक्षिण कोलकाता में वामपंथी संगठन रैडिकल के कार्यकर्ताओं ने मुखर्जी की आवक्ष मूर्ति के साथ तोड़फोड़ की. यह घटना त्रिपुरा में सोवियत नेता ब्लादिमीर लेनिन की प्रतिमाएं तोड़े जाने की बदले की कार्रवाई थी. वहां लेनिन की एक प्रतिमाकथित दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं ने‘ भारत माता की जय’ का नारा लगाते हुए तोड़ डाली.

कोलकाता के पुलिस आयुक्त ने बताया कि मुखर्जी की आवक्ष मूर्ति तोड़ने में शामिल सभी सात लोग गिरफ्तार कर लिये गये हैं. उनमें एक महिला है. त्रिपुरा की अनपयुक्त घटनाओं के बाद एक वरिष्ठ भाजपा नेता की फेसबुक टिप्पणी के आलोक में तमिलनाडु के वेल्लूर में द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक ई वी रामासामी की आवक्ष प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया गया. इस घटना की आज पूरे राज्य में निंदा की गयी.

उत्तर प्रदेश के मेरठ में अज्ञात व्यक्तियों ने बी आर अंबेडकर की मूर्ति को नुकसान पहुंचाया था जिसका दलितों ने विरोध किया. जिला प्रशासन द्वारा अंबेडकर की नयी प्रतिमा लगाने का आश्वासन देने के बाद मवाना में विरोध प्रदर्शन वापस ले लिया गया. राजनीतिक हस्तियों और समाज सुधारकों की प्रतिमाओं को नुकसान पहुंचाये जाने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कड़ी निंदा की. उन्होंने ऐसा करने वालों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी.

अगर पेरियार को छुओगे, तो जल जाओगे...

एक सरकारी बयान के अनुसार प्रधानमंत्री ने इस बारे में गृहमंत्री से भी बात की है और ऐसी घटनाओं को बिल्कुल नामंजूर करार दिया. गृह मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है, ‘‘ गृह मंत्रालय ने राज्यों से कहा कि वे ऐसी घटनाएं रोकने के लिए सभी जरुरी उपाय करें. राज्य सरकारों से ऐसा करने वालों से कड़ाई से निबटने को कहा गया है.’’ 

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद के बाहर कहा, ‘‘ मैं सभी, सभी राजनीतिक दलों से अपील करता हूं कि ऐसी हरकतों में शामिल किसी भी व्यक्ति से कड़ाई से निबटा जाए. ऐसी घटनाएं कभी सहीनहीं ठहरायी जा सकतीं.’’  भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ऐसी घटनाओं को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया और कहा कि ऐसी हरकत में शामिल किसी भी पार्टी कार्यकर्ता को कड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा. उन्होंने ट्वीट कर तोड़फोड की घटनाओं से पार्टी को दूर रखा और कहा कि उनकी पार्टी विचारों की विविधता में विश्वास करती है और मानती है कि भारत में विचारधाराएं सह अस्तित्व में रह सकती हैं.

टिप्पणियां
हालांकि उन्होंने कहा कि भाजपा पार्टी सचिव एच राजा के खिलाफ कार्रवाई नहीं करेगी. समझा जाता है कि उनके विवादास्पद फेसबुक पोस्ट के बाद ही पेरियार की प्रतिमा से तोड़फोड़ की गयी. वैसे राजा ने पोस्ट के लिए अपने फेसबुक प्रबंधन कर्मचारियों को जिम्मेदार ठहराया और अफसोस प्रकट किया. इस बीच तमिलनाडु भाजपा ने अपने कार्यकर्ता आर मुथुरमन को पार्टी से निकाल दिया है जिसे पेरियार की प्रतिमा को नुकसान पहुंचने पर गिरफ्तार किया गया था.

VIDEO: पेरियार, अंबेडकर भी निशाने पर

राजा ने फेसबुक पोस्ट में लिखा था, ‘‘ लेनिन कौन है और लेनिन एवं भारत के बीच क्या संबंध है? भारत का कम्युनिस्टों से क्या संबंध है? आज त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा हटायी गयी कल तमिलनाडु मेंयह ई वी रामासामी की प्रतिमा होगी.’’ उन्होंने बाद में सफाई दी, ‘‘ विचारों का मुकाबला विचारो से ही होना चाहिए न कि हिंसा से. मेरी किसी की भावना को चोट पहुंचाने की मंशा नहीं है. अतएव उस पोस्ट से यदि कोई आहत हुआ है तो मैं हार्दिक खेद प्रकट करता हूं.’’ लेकिन उनका माफीनामा राजनीतिक दलों को शांत नहीं कर पायी. विपक्षी द्रमुक तथा अन्य संगठनों ने तमिलनाडु में जगह जगह प्रदर्शन किए और राजा के पुतले फूंके. चेन्नई में भाजपा मुख्यालय का घेराव करने का प्रयास कर रहे प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement