भाषण चोरी के आरोपों को टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने किया खारिज, कहा- मेरा बयान दिल से था

2019 के लोकसभा चुनाव में महुआ मोइत्रा ने पश्चिम बंगाल के कृष्णानगर लोकसभा क्षेत्र से जीत हासिल की है.

भाषण चोरी के आरोपों को टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने किया खारिज, कहा- मेरा बयान दिल से था

2008 में कांग्रेस के साथ जुड़कर की थी अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत

नई दिल्ली:

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सांसद महुआ मोइत्रा लोकसभा में अपने जिस तीखे भाषण को लेकर चर्चा में आईं थीं अब उसी को लेकर लोगों ने उन पर चोरी का आरोप लगाया है. कुछ लोगों का कहना है कि वह उनका मौलिक भाषण नहीं था बल्कि चुराया गया था.  वहीं मोइत्रा ने उन पर लगे आरोपों को लेकर निराशा व्यक्त की और आरोपों के लिये बीजेपी की 'ट्रोल सेना' को जिम्मेदार ठहराया. उनका फासीवाद के सात चिन्ह विषय पर संसद में पिछले हफ्ते दिया गया भाषण वायरल हो गया था. मोइत्रा ने संसद में दिए गए अपने भाषण में नरेंद्र मोदी सरकार पर देश को फासीवाद की तरफ ले जाने का आरोप लगाया और दावा किया कि राष्ट्रवाद के नाम पर देश को बांटा जा रहा है और वैज्ञानिक सोच को पीछे धकेला जा रहा है. 

संसद में धुआंधार भाषण देने वाली टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा के बारे में जानिए 6 बातें

मोइत्रा ने एक बयान में कहा, “साहित्यिक चोरी तब है जब कोई अपने स्रोत का खुलासा न करे . मेरे बयान में स्रोत का स्पष्ट रूप से जिक्र है, जो राजनीतिक विज्ञानी डॉ. लॉरेंस डब्ल्यू ब्रिट द्वारा तैयार होलोकास्ट म्यूजियम था जिसमें शुरुआती फासीवाद के 14 संकेत का उल्लेख है.” उन्होंने कहा, “मैंने भारत के लिये सात संकेतों को प्रासंगिक पाया और उनमें से प्रत्येक का विस्तार से जिक्र किया.” 

Newsbeep

पीएम मोदी के भाषण से विपक्ष असंतुष्ट, टीएमसी ने कहा- धर्म के नाम पर जो हो रहा, वह संविधान में नहीं

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वॉशिंगटन मंथली के एक लेख को उद्धृत करते हुए एक ट्वीट आजकल चर्चा में है जिसमें आरोप लगाया गया है कि टीएमसी सांसद ने लोकसभा में अपने बयान का कुछ हिस्सा “फासीवाद के शुरुआती 12 संकेत” नाम से प्रकाशित लेख से लिया था जो अमेरिका और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के संदर्भ में था. पश्चिम बंगाल के कृष्णानगर से पहली बार चुनकर आयीं सांसद ने कहा कि लेख ने उसी पोस्टर को उद्धृत किया है जिसका संदर्भ उन्होंने अपने बयान में दिया है. मोइत्रा ने कहा, “मेरा बयान दिल से था और हर भारतीय जिसने इसे साझा किया उसने अपने दिल से ऐसा किया. यह स्वाभाविक था न कि कृत्रिम रूप से नियंत्रित. मैं फिर दोहराती हूं...‘बांधने मुझे तू आया है, जंजीर बड़ी क्या लाया है ?” पूर्व निवेश बैंकर 42 वर्षीय सांसद का 25 जून को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान सदन में दिया गया भाषण सोशल मीडिया पर ट्रेंड हो रहा था. (इनपुट-भाषा)

Video: TMC सांसद महुआ मोइत्रा अपने पहले ही भाषण से चर्चा में, मोदी सरकार पर साधा निशाना