NDTV Khabar

वाइब्रेंट गुजरात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के मुख्य अंश

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वाइब्रेंट गुजरात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के मुख्य अंश
गांधीनगर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि भारत के लोगों की ओर से सभी का स्वागत है। प्रमुख बातें -

  • जनवरी 2013 में छठा समिट पूरा किया था और फिर यहां आप तमाम लोगों का स्वागत कर रहा हूं।
  • जापान और कनाडा के सहयोग से यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है और नए सहयोगियों की तलाश में है। यूएस, इंग्लैंड, साउथ अफ्रीका जैसे तमाम देशों से इस में शामिल होने की अपील करूंगा।
  • तमाम बैंकों के प्रमुखों से अपील है कि विकासशील देशों के विकास में सहयोग करें।
  • मोदी ने कहा कि भारत वसुधैव कुटुंबकम की वकालत करता है और पिछले अपने तमाम संबोधन में मैंने यह बात कही है। और आज 100 से अधिक देश के प्रतिनिधि एक छत के नीचे इकट्ठा हुए हैं।
  • मोदी ने कहा कि कुछ लोगों के सपने कुछ लोगों के निर्देशों से पूरे होते हैं। परिवार में तमाम ऐसी बातें होती हैं जिससे सदस्यों का लाभ होता है।
  • धरती को बेहतर रहने की जगह बनाने का प्रयास है।
  • उन्होंने कहा कि गुजरात में मेहमानों का स्वागत होता है। यहां त्यौहारों का मौसम है।
  • हमें अब ग्लोबल इकोनोमी के बारे में भी सोचना है। हमें स्थाई और सभी के विकास की राह पर चलना है।
  • उन्होंने कहा कि हमारी सरकार लोगों के बीच विश्वास पैदा करने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि सोच में बदलाव का हम प्रयास कर रहे हैं।
  • मेरी सरकार भरोसेमंद, पारदर्शी और निष्पक्ष नीतिगत वातावरण तैयार करने को लेकर प्रतिबद्ध : मोदी
  • मोदी ने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव किम योंग की तारीफ की जिन्होंने योग को पूरी दुनिया में मान्यता दिलवाने का काम किया।
  • उन्होंने कहा कि लगातार प्रयास की वजह से गुजरात में देशी विदेशी निवेशकों की रुचि बढ़ी है। उन्होंने कहा कि तमाम राज्यों ने ऐसी ही कोशिश आरंभ की है। मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार सभी राज्यों की इस मुहिम में सहयोग को प्रतिबद्ध है।
  • मोदी ने कहा कि हमारी संस्कृति संरक्षण को बढ़ावा देती है। इसके साथ हम विकास का मार्ग तय करेंगे। हम जो भी करेंगे हमारी विचारधारा ऐसी ही रहेगी।
  • हम सात महीने की अल्प अवधि में निराशा तथा अनिश्चितता के माहौल को बदलने में कामयाब रहे हैं, हम अर्थव्यवस्था को गति देने के लिये काम कर रहे हैं : मोदी
  • भारतीय लोकतंत्र में मार्च 2014 राजनीति में बदलाव का ऐतिहासिक पल था। 30 साल बाद एक पार्टी को लोगों ने बहुमत की सरकार दी। यह बदलाव के लिए वोट था। विकास के लिए वोट था। संशय को दूर करने के लिए वोट था।
  • उन्होंने कहा कि हम बदलाव की प्रक्रिया में हैं। वर्क कल्चर को बदलने की प्रक्रिया में है।
  • दुनिया के देश हमारे साथ काम करने के लिये आगे आ रहे हैं, भारत गरीबी से लेकर पारिस्थितिकी तक से जुड़े मुद्दों पर वैश्विक नेताओं के साथ मिलकर काम करना चाहता है : मोदी
  • हमें स्वस्थ और समावेशी आर्थिक वृद्धि की दिशा में काम करना है: मोदी
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में उतार-चढ़ाव सबसे बड़ी चिंता, इसमें स्थिरता लाने और इसे नरमी से उबारने के रास्ते निकालने की जरूरत
  • हमने योजना आयोग को बदलकर नीति आयोग बनाया है।
  • इंश्योरेंस क्षेत्र और मेडिकल डिवाइस में निवेश की सीमा बढ़ाई है।
  • पोर्ट्स बनाए जा रहे हैं। लो कोस्ट एयरपोर्ट बनाए जाने की संभावनाएं तलाशी जा रही हैं।
  • इंफ्रास्ट्रकचर विकास पर जोर दिया जा रहा है। छोटे शहरों को केंद्र में रखकर भी योजनाएं बनाई जा रही हैं।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement