NDTV Khabar

सरकार ने जानबूझकर सांसद ई. अहमद के निधन की खबर जारी करने में देरी की : मल्लिकार्जुन खड़गे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सरकार ने जानबूझकर सांसद ई. अहमद के निधन की खबर जारी करने में देरी की : मल्लिकार्जुन खड़गे

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि ई. अहमद के निधन के बाद बजट को स्थगित किया जाना चाहिए था

खास बातें

  1. ई. अहमद के निधन की खबर जारी करने में देरी अमानवीय कृत्य : खड़गे
  2. कांग्रेस, माकपा और कुछ अन्य विपक्षी दलों ने बजट स्थगित करने की मांग की थी
  3. स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि बजट पेश किया जाना संवैधानिक बाध्यता है
नई दिल्ली:

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने पूर्व केंद्रीय मंत्री ई. अहमद के निधन के बाद भी केंद्रीय बजट पेश किए जाने के सरकार के रुख की आलोचना की और आरोप लगाया कि उनके निधन की खबर को जारी करने में देरी की गई, ताकि बिना किसी अवरोध के बजट पेश किया जा सके. कांग्रेस और माकपा सहित कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने मांग की थी कि अहमद के निधन के बाद उनके सम्मान में लोकसभा में 2017-18 के बजट को पेश करने की कार्यवाही स्थगित की जाए, लेकिन लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि यह संवैधानिक बाध्यता है जिसे पूरा किया जाना चाहिए. अध्यक्ष ने यह भी कहा कि दिवंगत सांसद अहमद के सम्मान में गुरुवार को सदन की बैठक नहीं होगी.

बुधवार को जब सदन की बैठक शुरू हुई तो लोकसभा अध्यक्ष ने सदस्यों को अहमद के निधन के बारे में सूचित किया और दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई.


उधर, खड़गे ने संवाददाताओं से कहा, 'उन्हें इस (ई अहमद के निधन) बारे में जानकारी थी और इसे सार्वजनिक करने के बारे में फैसला कर सकते थे, लेकिन उन्होंने इसे रोककर रखा. उन्होंने सोचा कि बजट पेश किए जाने के बाद वह फैसला करेंगे.' उन्होंने कहा, 'यह अमानवीय कृत्य है. ऐसे समय में इस तरह के राजनेता को लेकर सरकार का रुख स्वीकार्य नहीं है. बजट के लिए बहुत समय है. वे बजट स्थगित कर सकते थे और इसे गुरुवार को करा सकते थे, लेकिन उन्होंने इस बात को नहीं माना.'

टिप्पणियां

खड़गे ने कहा कि वह केरल के सांसदों से मुलाकात करेंगे और इस मुद्दे पर चर्चा करने के बाद संसद में उचित तरीके से इसे उठाएंगे. 78-वर्षीय अहमद का नई दिल्ली में आरएमएल अस्पताल में मंगलवार आधी रात के बाद निधन हो गया. केरल के मल्लपुरम से सांसद और आईयूएमएल नेता अहमद को मंगलवार को संसद के संयुक्त सत्र में राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान दिल का दौरा पड़ा था.

ई अहमद के निधन की सूचना मिलने से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी मंगलवार को देर रात राममनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचीं थीं. सोनिया गांधी के साथ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, अहमद पटेल और राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद भी थे. (इनपुट एजेंसी से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement