NDTV Khabar

चायवाला प्रधानमंत्री बन सका क्योंकि कांग्रेस ने लोकतंत्र अक्षुण्ण रखा : खड़गे 

खड़गे ने कहा कि प्रधानमंत्री हर कार्यक्रम में पूछ रहे हैं कि कि कांग्रेस ने पिछले 70 साल में क्या किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चायवाला प्रधानमंत्री बन सका क्योंकि कांग्रेस ने लोकतंत्र अक्षुण्ण रखा : खड़गे 

मल्लिकाअर्जुन खड़गे की फाइल फोटो

नई दिल्ली: महाराष्ट्र कांग्रेस मामलों के प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर हमला किया है. उन्होंने रविवार को कहा कि एक चायवाला देश का प्रधानमंत्री इसलिए बन सका क्योंकि कांग्रेस ने लोकतंत्र अक्षुण्ण रखा. खड़गे ने कहा कि प्रधानमंत्री हर कार्यक्रम में पूछ रहे हैं कि कि कांग्रेस ने पिछले 70 साल में क्या किया. उनके जैसा कोई चायवाला देश का प्रधानमंत्री इसलिए बन सका क्योंकि हमने लोकतंत्र में सभी को एक समान अधिकार दिए. उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी, राजीव और सोनिया गांधी के चरित्र पर अनवरत हमले होते रहे हैं.

यह भी पढ़ें: मल्लिकार्जुन खड़गे को आया धमकी भरा फोन, कहा- तुम दलितों के पक्ष में बहुत बोलते हो

यह भाजपा द्वारा जान - बूझकर किए जा रहे हमले हैं.  मोदी आपातकाल की बात करते हैं जो 43 पहले हुआ लेकिन पिछले चार साल के अघोषित आपातकाल का क्या ? किसान आत्महत्या कर रहे हैं , कृषि योजनाएं विफल हो रही हैं , किसानों को नया ऋण नहीं मिला रहा है और व्यापार गिरावट पर है. गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब खड़गे ने मोदी सरकार पर हमला बोला हो. इससे पहले इसी साल मार्च ने मोदी सरकार पर हमला बोला था.

यह भी पढ़ें: लोकपाल की नियुक्ति का मामला : केंद्र ने कहा, चयन की प्रक्रिया चल रही है

टिप्पणियां
उन्होंने लोकसभा में कहा था कि लोकतंत्र को खत्म करने के लिए क्या करना चाहिए वो ऐसे कदम उठा रहे हैं और हमें पाठ पढ़ा रहे हैं कि कांग्रेस चर्चा नहीं करना चाहती है. आपको बता दें कि संसद के निचले सदन लोकसभा में पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) और अन्य मुद्दों को लेकर मंगलवार को भी हंगामा हुआ जिसके कारण अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदन की कार्यवाही  मंगलवार तक स्थगित कर दी गई है.  

VIDEO: मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा बगैर हाईकमान के कोई फैसला नहीं.

विभिन्न दलों के सदस्य लोकसभा अध्यक्ष के आसन के पास इकट्ठा हो गए और बैकिंग अनियमितताओं सहित विभिन्न मुद्दों पर नारेबाजी करने लगे. सदन में लगातार सातवें दिन कामकाज बाधित रहा.  लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने प्रश्नकाल का संचालन करना चाहा लेकिन हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी. (इनपुट भाषा से) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement