जानें मल्लिकार्जुन खड़गे ने क्यों कहा- सदन में नहीं बोलेंगे तो कहां बोलेंगे

जानें मल्लिकार्जुन खड़गे ने क्यों कहा- सदन में नहीं बोलेंगे तो कहां बोलेंगे

लोकसभा में मल्लिकार्जुन खड़गे (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भाजपा नेता तरुण विजय की टिप्पणी को लेकर कांग्रेस सदस्यों के भारी हंगामे के कारण लोकसभा में प्रश्नकाल की कार्यवाही आज 10 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी. आज सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने पर सदन में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने इस मुद्दे को उठाने का प्रयास किया, लेकिन स्पीकर सुमित्रा महाजन ने इसे शून्यकाल के दौरान उठाने को कहा. वामदलों के सदस्य भी भाजपा नेता की टिप्पणी के विषय को उठाते देखे गए.

सुमित्रा महाजन ने कहा कि हिन्दुस्तान इतना बड़ा देश है. कोई भी, कहीं भी कुछ भी बोले और इस विषय पर सदन को बाधित करना ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि वे इस सदन के सदस्य भी नहीं है.

इस पर खड़गे ने सवाल किया कि हम सदन में नहीं बोलेंगे, तब कहां बोलेंगे? कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी पार्टी सदस्यों से कुछ कहते देखा गया. इसके बाद कांग्रेस सदस्य आसन के समीप आकर नारेबाजी करने लगे. कांग्रेस सदस्य ‘ये अपमान नहीं सहेंगे, भेदभाव बंद करो’ के नारे लगा रहे थे.

इस दौरान संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि हमारी दक्षिण भारत से आने वाली एक मंत्री निर्मला सीतारमण जवाब दे रही हैं. दक्षिण, उत्तर, पूर्व मध्य, पश्चिम के आधार पर आप भेद मत करें. हमारे लिए पूरा देश गौरव का विषय है. दक्षिण भारत की एक मंत्री जवाब दे रही हैं, और आप (विपक्ष) धैर्य से उनका जवाब सुनें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)