NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन पर भड़कीं ममता बनर्जी , कहा- अगर ईवीएम सही से...

ममता बनर्जी ने कहा कि एक तथ्य खोजी समिति बननी चाहिये ताकि वह ईवीएम का ब्यौरा तैयार कर सके.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन पर भड़कीं ममता बनर्जी , कहा- अगर ईवीएम सही से...

ममता बनर्जी ने ईवीएम को लेकर दिया बयान

कोलकाता:

लोकसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के खराब प्रदर्शन से खफा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को ईवीएम के इस्तेमाल को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने लोकसभा चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के इस्तेमाल को लेकर सोमवार को सवाल उठाये और विपक्षी दलों से अपील करते हुये कहा कि वे मतपत्रों के जरिए चुनाव करवाने की मांग संयुक्त रूप से की जानी चाहिए. ममता बनर्जी ने कहा कि एक तथ्य खोजी समिति बननी चाहिये ताकि वह ईवीएम का ब्यौरा तैयार कर सके. उन्होंने पार्टी के विधायकों और राज्य के मंत्रियों से चुनावों में तृणमूल कांग्रेस की पराजय को लेकर हुई बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि हमें लोकतंत्र बचाना है.

पंजाब के इस उम्‍मीदवार को अपनों ने दिया धोखा, मिले सिर्फ पांच वोट, कैमरे के सामने छलक पड़े आंसू


 हम मशीन नहीं चाहते, हमारी मांग है कि कागज के मतपत्र वाले युग की वापसी हो. हम एक आंदोलन प्रारंभ करेंगे और यह बंगाल से शुरू होगा. उन्होंने कहा कि मैं सभी विपक्षी 23 राजनीतिक दलों से कहूंगी कि वे साथ आयें और बैलैट पेपर की वापसी की मांग करें. अमेरिका जैसे देश में भी ईवीएम पर प्रतिबंध लगा हुआ है. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने आरोप लगाया कि भाजपा ने चुनाव जीतने के लिए धन, बाहुबल, संस्थाओं, मीडिया और सरकार का इस्तेमाल किया है.

Election Results 2019: जानिए लोकसभा चुनाव परिणाम घोषित होने में क्यों हो सकती है देरी?

उन्होंने कहा कि भाजपा, 42 लोकसभा सीटों वाले इस राज्य में वाम मोर्चे के कारण 18 सीटें जीतने में सफल रही है. मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा का दावा था कि वे 23 सीटें जीतेंगे पर वे 18 ही जीत सके. और वह भी वामदलों की वजह से। लेकिन हम (तृकां) अपना वोट शेयर चार फीसदी बढ़ाने में सफल रहे. गौरतलब है कि ममता बनर्जी पहली नेता नहीं हैं जिन्होंने इस लोकसभा चुनाव में ईवीएम के इस्तेमाल पर सवाल खड़े किए हैं. एएमएमके के टीटीवी दिनाकरन ने ईवीएम (EVM) को लेकर निशाना साधा था, हालांकि, उन्होंने ईवीएम का नाम नहीं लिया था.

गृह मंत्रालय ने मतगणना को लेकर हिंसा की आशंका जताई, सभी राज्यों के मुख्य सचिव, DGP को किया अलर्ट 

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक उन्होंने कहा था कि यह बहुत अजीब बात है कि हमारे कई समर्थकों ने हमारी पार्टी को वोट दिया था, लेकिन उनके वोट पंजीकृत नहीं हुए, ऐसे उदाहरण हैं जहां हमारी पार्टी के लिए कोई वोट नहीं डाला गया. यह कैसे संभव हो सकता है? चुनाव आयोग को स्पष्ट करना होगा. मैं अदालत में नहीं जा सकता क्योंकि मेरे पास कोई सबूत नहीं है.' साथ ही उन्होंने कहा था कि हम बूथों की जानकारी इकट्ठी एकत्र कर रहे हैं और इसके बाद चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज करेंगे.'

टिप्पणियां

Election Results के बाद बोलीं मायावती: जनता के गले नहीं उतरे रहे नतीजे, EVM से उठा भरोसा, कुछ तो गड़बड़ है, सुप्रीम कोर्ट करे विचार

बता दें, बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने चुनाव परिणाम आने के बाद ईवीएम को लेकर हमला बोलते हुये कहा था कि जनता का विश्वास इससे हट गया है. उन्होंने कहा कि गठबंधन ने जो सीटें उप्र में जीती हैं वहां इन लोगों ने ईवीएम में गड़बड़ी नहीं कराई ताकि जनता को शक न हो. साथ ही उन्होंने कहा कि गठबंधन की पार्टियों बसपा, सपा और रालोद के सभी छोटे बड़े कार्यकर्ताओं ने पूरे तन-मन-धन से मेहनत और लगन से लगातार काम किया है. सभी का आभार प्रकट करती हूं खासकर सपा के प्रमुख अखिलेश यादव, रालोद के अजित सिंह ने अपनी पूरी ईमानदारी से काम किया है. (इनपुट भाषा से)  



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement