ममता बनर्जी भी कूदीं EVM विवाद में, भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी के वीडियो क्लिप का लिया सहारा

ममता बनर्जी भी कूदीं EVM विवाद में, भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी के वीडियो क्लिप का लिया सहारा

ममता बनर्जी ने कहा कि ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोपों को लेकर चुनाव आयोग को सर्वदलीय बैठक बुलानी चाहिए

खास बातें

  • मायावती, केजरीवाल ने EVM में गड़बड़ी का लगाया था आरोप
  • ममता ने कहा- चुनाव आयोग को सर्वदलीय बैठक बुलानी चाहिए
  • ममता ने सुब्रमण्यम स्वामी के विचारों वाला वीडियो भी संवाददाताओं को दिखाया
कोलकाता:

हाल ही में हुए यूपी विधानसभा चुनाव में ईवीएम से छेड़छाड़ किए जाने के आरोपों के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा कि चुनाव आयोग को इस मुद्दे पर चर्चा के लिए एक सर्वदलीय बैठक बुलानी चाहिए. उन्होंने कहा, मैंने चुनाव आयोग का यह बयान देखा है कि ऐसा कुछ नहीं है, लेकिन मैंने भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी का भी एक वीडियो टेप देखा है जिसमें उन्होंने ईवीएम में छेड़छाड़ हो सकने की बात कही है. ममता ने सुब्रमण्यम स्वामी के विचारों वाला वीडियो भी संवाददाताओं को दिखाया.

ममता ने कहा, 'कोई स्वीकार करे या ना करे यह पूरी तरह से उनकी पसंद है, लेकिन चुनाव आयोग एक सर्वदलीय बैठक बुला सकता है.' गौरतलब है कि वीडियो में स्वामी को यह कहते देखा जा सकता है कि जापान में ईवीएम बने थे लेकिन वहां चुनाव में मत पत्रों का ही इस्तेमाल होता है, क्योंकि मशीनों से छेड़छाड़ की जा सकती है. इस वीडियो में भाजपा नेता को यह कहते सुना जा सकता है कि यहां तक कि अमेरिका और जर्मनी जैसे देश ईवीएम की बजाय मत पत्रों का इस्तेमाल करते हैं.

Newsbeep

उन्होंने स्वामी को कानूनी रूप से बहुत मजबूत बताते हुए कहा, 'उन्होंने (स्वामी ने) जो कहा है वह गलत नहीं है...उन्होंने कुछ भी बुरा नहीं कहा है...मैंने कुछ नहीं कहा है लेकिन मुझे लगता है कि इसकी जांच हो सकती है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इससे पहले बसपा प्रमुख मायावती ने आरोप लगाया था कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत पक्की करने के लिए ईवीएम को 'मैनेज' किया गया था. आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी कहा कि ईवीएम से पंजाब में छेड़छाड़ की गई थी, जिससे आम आदमी पार्टी के 20-25 फीसदी वोट अकाली दल-भाजपा गठबंधन को स्थानांतरित हो गए.
(इनपुट एजेंसियों से)