NDTV Khabar

विपक्ष की तरफ से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार कौन होगा? ममता बनर्जी ने दिया यह जवाब

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि विपक्ष के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के मुद्दे पर 2019 में लोकसभा चुनाव के बाद ही चर्चा हो सकती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विपक्ष की तरफ से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार कौन होगा?  ममता बनर्जी ने दिया यह जवाब

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. 'चुनाव के बाद ही विपक्ष के पीएम पद के उम्मीदवार पर चर्चा'
  2. ममता बनर्जी ने कही यह बात
  3. स्टालिन ने राहुल गांधी के नाम की सिफारिश की थी
कोलकाता:

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि विपक्ष के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के मुद्दे पर 2019 में लोकसभा चुनाव के बाद ही चर्चा हो सकती है. ममता का यह बयान द्रमुक अध्यक्ष एम के स्टालिन के उस बयान की पृष्ठभूमि पर आया है, जिसमें उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम विपक्ष के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर घोषित करने का प्रस्ताव पेश किया था. ममता ने राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा,‘‘2019 में लोकसभा चुनाव के बाद ही इस पर चर्चा हो सकती है. एकबार विपक्षी गठबंधन विजयी हो जाए फिर सभी पार्टियां बैठक कर इस मामले पर निर्णय लेंगी. हमें उसे स्वीकार करेंगे.'' यह पूछे जाने पर कि क्या वह भी इस दौड़ में शामिल हैं,उन्होंने कहा, ‘‘इस मसले पर बात करने का यह वक्त नहीं है. मैं अकेले नहीं हूं. हम साथ में काम कर रहे हैं. हम मजबूती से साथ में हैं.''

अखिलेश यादव के इस बयान से 2019 में महागठबंधन की कवायद में जुटे विपक्ष को लग सकता है झटका!


बीते दिनों डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम 2019 के चुनावों में प्रधानमंत्री पद के लिए प्रस्तावित किया था. चेन्नई में विपक्ष के कार्यक्रम में स्टालिन ने कहा था, ''राहुल के अंदर फासीवादी मोदी सरकार को हराने की क्षमता है. हम सभी को राहुल गांधी का साथ देना चाहिए और देश को बचाने में उनकी मदद करनी चाहिए''. स्टालिन के इस बयान के बाद खबर आई थी कि विपक्षी दलों के कई नेता 2019 के लोकसभा चुनावों में विपक्षी गठबंधन की ओर से किसी का नाम प्रधानमंत्री पद के लिए नामित किये जाने के खिलाफ लगते हैं. विपक्षी खेमे के सूत्रों ने यह जानकारी दी थी.  विपक्ष के एक वरिष्ठ नेता ने बताया था, ‘‘विपक्ष के कई नेता प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी के रूप में किसी का नाम घोषित किये जाने के खिलाफ हैं. सपा, तेदेपा, बसपा, तृणमूल और राकांपा स्टालिन की घोषणा से सहमत नहीं है. यह जल्दीबाजी है. लोकसभा परिणामों के बाद ही प्रधानमंत्री का निर्णय होगा.''

डीएमके प्रमुख स्टालिन ने बताया- उन्होंने राहुल गांधी का नाम PM के लिए क्यों प्रस्तावित किया था

इससे पहले मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में  हुए शपथ ग्रहण समारोह में महागठबंधन की झलक तो दिखी थी, लेकिन अखिलेश यादव, मायावती और ममता बनर्जी गठबंधन ट्रेवल्स की यात्रा से दूर ही रहे थे और उन्होंने शपथ ग्रहण समारोह में भी हिस्सा नहीं लिया था. 

VIDEO: राहुल ही हों अगले PM उम्मीदवार: स्टालिन

टिप्पणियां

(इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement