जब ममता बनर्जी ने अमित शाह से कहा, 'कोरोना संकट को खुद संभालो', तो ये था गृह मंत्री का जवाब

CM ममता बनर्जी ने कहा, 'मैंने अमित शाह से कहा कि आप लगातार केंद्र की टीमों को बंगाल भेज रहे हो, आप भेजो लेकिन अगर आपको लगता है कि पश्चिम बंगाल सरकार काम नहीं कर सकती, तो आप कोरोना संकट को खुद क्यों नहीं संभालते?'

जब ममता बनर्जी ने अमित शाह से कहा, 'कोरोना संकट को खुद संभालो',  तो ये था गृह मंत्री का जवाब

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • देश में लगातार सामने आ रहे कोरोना के मामले
  • कोरोना संक्रमितों की संख्या डेढ़ लाख के पार
  • कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ महाराष्ट्र
कोलकाता:

कोरोनावायरस (Coronavirus) और प्रवासी मजदूरों के मामले में पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र सरकार के बीच तनातनी जारी है. राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banarjee) ने ट्रेनों के परिचालन को लेकर रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) पर भी निशाना साधा. CM ममता बनर्जी ने बुधवार को मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कहा, 'मैंने अमित शाह से कहा कि आप लगातार केंद्र की टीमों को बंगाल भेज रहे हो, आप भेजो लेकिन अगर आपको लगता है कि पश्चिम बंगाल सरकार काम नहीं कर सकती, तो आप कोरोना संकट को खुद क्यों नहीं संभालते? मुझे कोई समस्या नहीं है.' वह आगे कहती हैं, 'उन्होंने जवाब में जो कुछ कहा, उसके लिए मैं उनकी शुक्रगुजार हूं. उन्होंने कहा, नहीं, नहीं, हम एक निर्वाचित सरकार को कैसे नापसंद कर सकते हैं.'

मुख्यमंत्री बनर्जी ने आगे कहा, 'मैं प्रधानमंत्री और गृह मंत्री से कहना चाहती हूं कि कृपया देखिए कि कोरोना फैले नहीं. भारत में पहले ही कोरोना संक्रमितों की संख्या एक लाख पार हो गई है. कुछ लोग इसे राजनीति के लिए फैलाना चाहते हैं. बिहार प्रभावित है. राजस्थान, मध्य प्रदेश ये सभी जगह फैल रहा है. मैं क्या कर सकती हूं. इस संकट के समय मैं चाहती हूं कि प्रधानमंत्री हस्तक्षेप करें.'

इससे पहले प्रवासी मजदूरों को ट्रेन से पश्चिम बंगाल भेजे जाने पर CM ममता बनर्जी ने कहा था, 'मैं नहीं जानती कि रेल मंत्रालय ऐसा क्‍यों कर रहा है. हम दो लाख प्रवासी मजदूरों की जांच किस तरह करेंगे क्‍या केंद्र मदद करेगा. रेलों में सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन क्‍यों नहीं किया जा रहा है. हम टिकट के लिए भुगतान कर रहे हैं लेकिन कोचों में बहुत अधिक संख्‍या में यात्री हैं.'

उन्होंने आगे कहा, 'आप महाराष्‍ट्र को खाली कर रहे हैं और बंगाल में कोरोना फैला रहे हैं. यदि आप इस बात को नहीं समझ रहे तो क्‍या ये मेरी नाकामी है. कंटेनमेंट जोन को बरकरार रखा जाना चाहिए. मैं नहीं चाहती कि भारत का बड़ा क्षेत्र रेड जोन में तब्‍दील हो जाए. आपने ही रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन का निर्धारण किया लेकिन अब रेड जोन बढ़ रहा है.'

ममता बनर्जी ने आगे कहा, 'पूरे बंगाल में प्रवासी मजदूरों की 11 ट्रेनें देर रात अलग-अलग स्‍थानों पर आ रही हैं. 17 ट्रेनें कल (गुरुवार) आएंगी. वे राजनीतिक रूप से मुझे परेशान करना चाहते हैं. रेल मंत्रालय ने कोई जिम्‍मेदारी नहीं दिखाई है. हमने योजना बनाकर ट्रेनों को लेकर शेड्यूल दिया था लेकिन ऐसा लगता है राजनीति हर किसी चीज पर हावी है. पश्चिम बंगाल बड़ी आपदा (अम्फन के बाद) का सामना कर रहा है और रेलवे रोजाना श्रमिक ट्रेनें भेज रहा है. इससे कोविड-19 के मामलों में इजाफा होगा.'

ममता बनर्जी ने कहा, 'ये समय इस मुद्दे पर राजनीति करने का नहीं है. मैं प्रधानमंत्री से अपील करती हूं कि कोरोना का प्रकोप अब और नहीं बढ़ना चाहिए, यह पहले ही देश में काफी फैल चुका है. कोरोना के केस बंगाल ही नहीं, सब जगह बढ़ रहे हैं. क्‍या ये बिहार में नहीं फैल रहा है, जहां जेडीयू के साथ बीजेपी सत्ता में है. मैं इस मामले में पीएम का दखल चाहती हूं, कृपया हमारी मदद करें.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: हॉट स्पॉट वाले इलाकों पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है : डॉ. रणदीप गुलेरिया