NDTV Khabar

BJP का 'अपराजेय चाणक्य' हार गया कांग्रेस के 'चाणक्य' से : मणिशंकर अय्यर

NDTV.com के लिए लिखे अपने ब्लॉग में मणिशंकर अय्यर ने कहा कि सामान्य राज्यसभा चुनाव को शिखर पर बैठी शख्सियतों की लड़ाई बना देने वाले अमित शाह ने आखिरकार "अपने चेहरे पर अंडा झेला, या यूं कहिए कि चूंकि वह शाकाहारी हैं, सो, उनकी दाढ़ी पर मलाई मल दी गई..."

1690 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
BJP का 'अपराजेय चाणक्य' हार गया कांग्रेस के 'चाणक्य' से : मणिशंकर अय्यर

BJP अध्यक्ष अमित शाह (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनैतिक सलाहकार अहमद पटेल को राज्यसभा चुनाव में शिकस्त देने के लिए तमाम हथकंडे अपनाए, ताकि वह कांग्रेस अध्यक्ष को नीचा दिखा सकें, और कांग्रेस को देशभर में मज़ाक का पात्र बना सकें, लेकिन आखिरकार वह खुद 'अपराजेय चाणक्य' की अपनी छवि को नुकसान पहुंचा बैठे. यह कहना है कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर का.

NDTV.com के लिए लिखे अपने ब्लॉग में मणिशंकर अय्यर ने कहा कि सामान्य राज्यसभा चुनाव को शिखर पर बैठी शख्सियतों की लड़ाई बना देने वाले अमित शाह ने आखिरकार "अपने चेहरे पर अंडा झेला, या यूं कहिए कि चूंकि वह शाकाहारी हैं, सो, उनकी दाढ़ी पर मलाई मल दी गई..."

यह भी पढ़ें : हां, यह निजी लड़ाई है - बीजेपी प्रमुख अमित शाह के मामले में बोले अहमद पटेल

कांग्रेस नेता ने ब्लॉग में कहा है कि हर घटिया तरकीब अपनाने के बावजूद अमित शाह के साथ सबसे बड़ी विडम्बना तब रही, जब कांग्रेस के दो गद्दारों ने अपनी गद्दारी का सबूत देने के लिए अमित शाह की नज़रों के सामने अपने मतपत्र लहराए, और वही दोनों मतपत्र अवैध घोषित हो गए, जिनसे उस शख्स, उस पार्टी और उस पार्टी नेता को जीत हासिल हो गई, जिन्हें वह बर्बाद कर देने की कोशिश में जुटे हुए थे.

यह भी पढ़ें : सोनिया और राहुल गांधी को घेरने के लिए अब यह रणनीति बना सकती है BJP

मणिशंकर अय्यर ने कहा, BJP अध्यक्ष की असलियत सबके सामने आ गई - वह बाहुबल और धनबल का इस्तेमाल करने वाले शख्स हैं, जिनकी गलत हरकतें उन्हें असैद्धांतिक, अनैतिक और अपने राजनैतिक लक्ष्यों को हासिल करने के लिए किसी भी हद तक चले जाने वाले राजनेता के रूप में सामने ले आती हैं.

VIDEO: गुजरात राज्यसभा चुनाव में हाईवोल्टेज ड्रामे के बाद अहमद पटेल की जीत


कांग्रेस नेता ने कहा कि लेकिन इस बार गुजरात में उन्हें कांग्रेस पार्टी के अपने चाणक्य ने पराजित कर दिया, जिसने अमित शाह के हथकंडों को समझ लिया, और गुजरात की राजनीति की अपनी गहरी समझ का इस्तेमाल किया, ताकि शाह से एक कदम आगे रह सके.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement