नतीजों के बाद बोले मनीष सिसोदिया, अपनी जीत के प्रति आश्वस्त था, पत्नी ने कही ये बात

दिल्ली विधानसभा चुनाव में पटपड़गंज विधानसभा सीट से उप-मुख्यमंत्री व आप नेता मनीष सिसोदिया ने जीत हासिल की.

नतीजों के बाद बोले मनीष सिसोदिया, अपनी जीत के प्रति आश्वस्त था, पत्नी ने कही ये बात

मनीष सिसोदिया को पटपड़गंज विधानसभा सीट पर तीसरी बार भी जीते

खास बातें

  • पटपड़गंज की जनता ने एक बार और काम करने का मौका दिया
  • बीजेपी की बयानबाजी का असर कहां होगा और कहां नहीं, ये पता था
  • दिल्ली की जनता से झाड़ू थोड़ी देर से चलाई: सीमा सिसोदिया
नई दिल्ली:

दिल्ली विधानसभा चुनाव में पटपड़गंज विधानसभा सीट से उप-मुख्यमंत्री व आप नेता मनीष सिसोदिया ने जीत हासिल की. उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार रविंदर सिंह नेगी को पटखनी दी. तीसरी बार जीत हासिल करने के बाद मनीष सिसोदिया ने NDTV से खास बातचीत की. शुरुआती रुझानों में रविंदर नेगी, मनीष सिसोदिया से आगे चल रहे थे लेकिन अंत तक आते-आते वह करीब 4 हजार वोटों से जीत गए. इस कांटे के मुकाबले पर मनीष सिसोदिया का कहना है कि मुझे शुरू से विश्वास था कि मैं जीत जाउंगा और यह भी पता था कि बीजेपी इन कुछ इलाकों में हिंदू-मुस्लिम नफरत फैलाने की कोशिश की जिसका असर कुछ इलाकों में पड़ेगा. 

Delhi Results 2020: दिल्‍ली में AAP की हैट्रिक, नहीं चल पाया BJP का कोई भी 'पैंतरा'- कांग्रेस का फिर सूपड़ा साफ

कम अंतर से मिली जीत के सवाल पर मनीष सिसोदिया ने कहा कि जीत-जीत होती है, पटपड़गंज की जनता का धन्यवाद करते हुए उन्होंने कहा कि जिन्होंने मुझे वोट दिया उनका भी धन्यवाद और जिन्होंने नहीं दिया उनका भी धन्यवाद, अब साथ मिलकर जनता के लिए काम करेंगे, पटपड़गंज के लोगों ने सेवा करने का मौका दिया है. मनीष सिसोदिया ने कहा कि इस जीत ने पूरे देश को साफ संदेश दे दिया कि आपस में लोगों का लड़ाना राष्ट्रवाद नहीं है. राष्ट्रवाद है लोगों की सेवा करना, अच्छी शिक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराना, अच्छे अस्पताल बनाना. अगर जनता ने हमें 62 सीटों का जनादेश दिया है, तो इसका मतलब है कि वह हमारे काम से संतुष्ठ है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हार की जिम्मेदारी लेते हुए सुभाष चोपड़ा ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा

वहीं मनीष सिसोदिया की पत्नी सीमा सिसोदिया का कहना है कि दिल्ली की जनता ने थोड़ी देर से झाड़ू लगाई. उन्होंने कहा कि वह पल बहुत मुश्किल भरे थे जब मनीष अपनी सीट पर पीछे चल रहे थे लेकिन आखिरकार जीत हासिल हुई.